प्रवीण कुमार

बीते दो दशक से पहले प्रिंट और वर्तमान में ऑनलाइन पत्रकारिता में सक्रिय. राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय राजनीति व समसामयिक विषयों में गहरी रूचि. गंभीर विषयों पर लेखन कार्य.

अरविंद केजरीवाल : मसीहा या धोखा

अब वक्त आ गया है यह जानने का कि क्या वाकई अरविंद केजरीवाल आम आदमी का प्रतिरूप हैं? क्या वाकई अरविंद केजरीवाल भ्रष्टाचार मिटाकर आम आदमी की तकलीफ दूर करने की नीयत से राजनीति में आए थे?

सुनंदा पुष्कर! ये तूने क्या किया

'जो होना होता है, वह होकर रहेगा' और 'हंसते हुए जाएंगे'...

पीएम की चुप्पी टूटी ऐसी कि...

कांग्रेस नीत यूपीए सरकार के कथित भ्रष्टाचार, महंगाई और फैसला नहीं लेने को लेकर हमेशा सवालों के घेरे में रहे देश के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को चुप्पी तोड़ी। दिल्ली के नेशनल मीडिया सेंटर

देख तमाशा दिल्ली का

तमाशा, तमाशाई और तमाशबीन सभी बढ़ते जा रहे हैं। आजकल ना जाने, क्या-क्या तमाशा नहीं बन जाता। भारतीय लोकतंत्र भी इससे अछूता नहीं। जी हां!

शिवराज को सत्ता की सबसे बड़ी हैट्रिक

मध्य प्रदेश की 14वीं विधानसभा के गठन लिए शिवराज की सरकार ने सत्ता की सबसे बड़ी हैट्रिक लगा दी है। सत्ता की सबसे बड़ी हैट्रिक हम इसलिए कह रहे क्योंकि, पहली बात तो यह है कि शिवराज सिंह मध्य प्रदेश के

आखिर नरेंद्र मोदी चीज क्या हैं?

पटना के गांधी मैदान में सीरियल धमाकों के बीच 27 अक्टूबर को हुंकार रैली में नरेंद्र मोदी ने जिस अंदाज में हुंकार भरी और उसके बाद तमाम गैर भाजपाई दलों ने जिस तरह से मोदी पर हमले शुरू किए हैं उससे यह