close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

TVS ने लॉन्च की एथेनॉल से चलने वाली बाइक, कीमत के लिए क्लिक करें

एथेनॉल से चलने वाली पहली मोटरसाइकिल ने भारत में लॉन्च हो गई है. टीवीएस मोटर ने एथेनॉल से चलने वाली मोटरसाइकिल को पेश किया है. टीवीएस ने एथेनॉल से चलने वाली मोटरसाइकिल टीवीएस अपाचे (TVS Apache RTR 200 4V) को आज पेश कर दिया है.

TVS ने लॉन्च की एथेनॉल से चलने वाली बाइक, कीमत के लिए क्लिक करें
एथेनॉल से चलने वाली बाइक को पहली बार ऑटो एक्सपो 2018 में शोकेस किया गया था. (फोटो साभार : ट्विटर)

नई दिल्ली : एथेनॉल से चलने वाली पहली मोटरसाइकिल ने भारत में लॉन्च हो गई है. टीवीएस मोटर ने एथेनॉल से चलने वाली मोटरसाइकिल को पेश किया है. टीवीएस ने एथेनॉल से चलने वाली मोटरसाइकिल टीवीएस अपाचे (TVS Apache RTR 200 4V) को आज पेश कर दिया है. यह सरकार की पहल के अनुसार हरित और टिकाऊ भविष्य की गतिशीलता का एक बेहतरीन सॉल्यूशन है. इस खास मौके पर सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन जयराम गडकरी और नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत भी मौजूद थे.

ऑटो एक्सपो 2018 में शोकेस किया था
आपको बता दें, टीवीएस ने एथेनॉल से चलने वाली मोटरसाइकिल TVS Apache RTR 200 4V को ऑटो एक्सपो 2018 में शोकेस किया था. शुक्रवार को इस मौके पर टीवीएस मोटर के चेयरमैन वेणू श्रीनिवासन ने कहा कि दोपहिया वाहन उद्योग ग्रीन और टिकाऊ यातायात सॉल्यूशन की तरफ बढ़ रहा है. इसमें इलेक्ट्रिक, हाइब्रिड और अन्य ईंधन विकल्पों पर जोर दिया जा रहा है. कंपनी की तरफ से बाइक की कीमत 1.20 लाख रुपये तय की गई है.

बाइक की कीमत पर कोई दबाव नहीं आएगा
उन्होंने कहा कि यह तभी संभव हो सका है जब एथेनॉल को आसानी से उपलब्ध कराने की कोशिश की गई है. इस ईंधन से मोटरसाइकिल की कीमत पर कोई दबाव नहीं आएगा और यह बिना पर्यावरण को किसी प्रकार का नुकसान पहुंचाएगा. एथेनॉल का घरेलू उत्पादन अक्षय स्रोतों से किया जाता है. यह गैर विषैला, स्टोर करने और लाने-ले जाने में सुरक्षित है.

एथेनॉल में होती है 35 प्रतिशत ऑक्सीजन
एक ऑक्सीजन युक्त ईंधन जिसमें 35 प्रतिशत ऑक्सीजन होता है, एथेनॉल जलने पर नाइट्रोजन ऑक्साइड का उत्सर्जन कम करता है. यह कार्बन मोनोऑक्साइड उत्सर्जन और सल्फर-डाइऑक्साइड को भी कम करता है. सरकार का मानना है कि ईंधन के रूप में एथेनॉल के इस्तेमाल से पेट्रोलियम के आयात पर निर्भरता घटेगी और ऊर्जा की भी बचत हो सकेगी.

हालांकि उद्योग की कई बड़ी कंपनियां नीति आयोग के 150सीसी तक के दोपहिया वाहन जिसमें आंतरिक दहन इंजन है, पर पूरी तरह बैन की बात पर चिंतित हैं. सरकार के थिंक टैंक ने ऑटो निर्माता संगठन सियाम से वर्ष 2025 तक इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए कुछ ठोस पहल करने को कहा है.

(इनपुट एजेंसी से)