close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'5 साल में ऑटो मैन्युफैक्चरिंग हब बनेगा भारत, स्क्रैपेज पॉलिसी का ड्रॉफ्ट तैयार'

Nitin Gadkari On Scrappage Policy : भले ही इंडियन ऑटो इंडस्ट्री (Auto Industry) अभी बिक्री में गिरावट की समस्या से जूझ रही हो, लेकिन आने वाले पांच से छह साल में भारत ऑटो मैन्युफैक्चरिंग हब बनकर उभरेगा. यह कहना है सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का.

'5 साल में ऑटो मैन्युफैक्चरिंग हब बनेगा भारत, स्क्रैपेज पॉलिसी का ड्रॉफ्ट तैयार'

नई दिल्ली : भले ही इंडियन ऑटो इंडस्ट्री (Auto Industry) अभी बिक्री में गिरावट की समस्या से जूझ रही हो, लेकिन आने वाले पांच से छह साल में भारत ऑटो मैन्युफैक्चरिंग हब बनकर उभरेगा. यह कहना है सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का. गडकरी ने बुधवार को कहा कि सरकार जल्द स्क्रेपेज पॉलिसी पर अंतिम निर्णय लेने वाली है. गडकरी ने कहा अभी स्कूटर और मोटर साइकिल को स्क्रैप में बदलने के नियमों के बारे में जानकारी हासिल की जा रही है.

वित्त मंत्रालय से बात कर अंतिम रूप दिया जाएगा
ऑटो इंडस्ट्री में चल रही मंदी को जल्द सरकार की मदद से दूर कर लिया जाएगा. स्क्रैपेज पॉलिसी का ड्रॉफ्ट तैयार कर लिया गया है. जल्द से जल्द इस मामले पर वित्त मंत्रालय से बात कर इसे अंतिम रूप दिया जाएगा. ऑटो सेक्टर को गति देने के लिए वाहनों पर जीएसटी दर कम करने के लिए वित्त मंत्री से भी बात की है. अब इस बारे में फाइनेंस मिनिस्टर को ही फैसला लेना है.

 

यह भी देखें-

गडकरी ने उम्मीद जताई कि वित्त मंत्री वाहनों पर जीएसटी दर कम करने के बारे में राज्यों के वित्त मंत्रियों से बातचीत कर इसकी संभावना तलाशेंगी. इससे पहले पिछले हफ्ते ही वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने वाहनों पर जीएसटी दर 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत करने का संकेत दिया था. उन्होंने उम्मीद जताई थी कि दिवाली से पहले सरकार इस पर फैसला ले सकती है.

(रिपोर्ट : दानिश आनंद)