Breaking News
  • देश में आत्‍मनिर्भर भारत सप्‍ताह की शुरुआत
  • दूसरों की ताकत पर निर्भर नहीं रहना चाहिए: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
  • कश्‍मीर: शाह फैसल ने अपना दल छोड़ा, प्रशासिनक क्षेत्र में वापस लौटने की अटकलें

Tata पूरी तरह बदल देगी सेल्स नेटवर्क, वर्चुअल शोरुम भी होंगे

टाटा मोटर्स (Tata Motors) देशभर में अपने बिक्री नेटवर्क में अगले एक साल में पूरी तरह बदलाव करने की योजना बना रही है. इसमें डिजिटल प्रौद्योगिकी वाले (वर्चुअल आभासी) शोरूम भी होंगे.

Tata पूरी तरह बदल देगी सेल्स नेटवर्क, वर्चुअल शोरुम भी होंगे

जोधपुर : टाटा मोटर्स (Tata Motors) देशभर में अपने बिक्री नेटवर्क में अगले एक साल में पूरी तरह बदलाव करने की योजना बना रही है. इसमें डिजिटल प्रौद्योगिकी वाले (वर्चुअल आभासी) शोरूम भी होंगे. कंपनी कई नए प्रोडक्ट भी तैयार कर रही है जिसमें प्रीमियम एसयूवी हैरियर शामिल है. कंपनी की योजना वित्त वर्ष 2021-22 के अंत तक अपने डीलरों की संख्या दोगुनी करने की भी योजना है. इसमें करीब आधे शोरूम वर्चुअल अनुभव आधारित होंगे.

साल 2021-22 तक 2 हजार डीलर बनाने की योजना
पारीक ने कहा, 'साल 2021-22 तक हमारी योजना 2 हजार डीलर बनाने की है. ये डीलर परंपरागत शोरूम नहीं होंगे. हम 4G और 5G के साथ डिजिटल प्रौद्योगिकी का उपयोग करके नए वर्चुअल डीलर बनाएंगे.' अभी देशभर में टाटा मोटर्स के 790 डीलर हैं. साथ ही कंपनी की योजना भविष्य में अपने सभी उत्पाद दो प्लेटफार्म ओमेगा और एल्फा पर उतारने की है.

शोरूम और वर्कशॉप के कायाकल्प की जरूरत
टाटा मोटर्स के यात्री वाहन कारोबार इकाई के अध्यक्ष मयंक पारीक ने कहा, 'हम मानते हैं कि हमारे शोरूम और वर्कशॉप दोनों के पूरे कायाकल्प की जरूरत है. इसके लिए हमने वैश्विक परामर्श एजेंसी को नियुक्त किया है जो हमारे सभी शोरूम को नया रूप देने पर सलाह-मशविरा देगी.' उन्होंने कहा कि शोरूमों के कायाकल्प का काम अगले महीने से शुरू हो जाएगा और यह कम से कम अगले एक साल तक चलेगा.

नई तकनीक को लाया जाएगा
उन्होंने कहा कि कायाकल्प के दौरान नई तकनीक को लाया जाएगा, शोरूम के माहौल को बेहतर बनाया जाएगा और नए कार्यबल को भी जोड़ा जाएगा. पारीक ने कहा कि हमने निर्णय किया है कि हर शोरूम में वाई-फाई होगा. वहां एक लाउंज होगा, जहां आप जाकर बैठ सकते हैं और जरूरी नहीं कि आप वहां कार खरीदें हीं. वहीं कंपनी अपनी वर्कशॉप को भी एडवांस कर रही है. केवल हैरियर एसयूवी के लिए ही कंपनी 800 बिक्री कार्यकारियों की भर्ती कर रही है. कंपनी जनवरी में हैरियर पेश कर सकती है.

सफारी जैसे पुराने मॉडल को बंद करने के बारे में पारीक ने कहा कि उसके आने वाले सभी मॉडल सिर्फ दो प्लेटफॉर्म पर आधारित होंगे. इस क्रम में कुछ उत्पाद निश्चित तौर पर बंद हो जाएंगे, आखिर कब तक हम एक ही प्रोडक्ट को बनाए रख सकते हैं? गौरतलब है कि टाटा मोटर्स पहले ही इंडिका, इंडिगो, मांजा और विस्टा जैसे उत्पादों को बंद कर चुकी है.

इलेक्ट्रिक वाहनों के बारे में पारीक ने कहा कि उसके भविष्य के सभी प्रोडक्ट इलेक्ट्रिक रूप के लिए तैयार होंगे. कंपनी के मौजूदा टियागो, टिगॉर, बोल्ट और जेस्ट मॉडल डिजाइन के हिसाब से इलेक्ट्रिक कार में बदले जाने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.

(इनपुट एजेंसी से)