close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Book Review : इग्नोरेंशिया ज्यूरिस नॉन एक्सक्यूसैट! कुछ समझ आया...

Book Review : इग्नोरेंशिया ज्यूरिस नॉन एक्सक्यूसैट! कुछ समझ आया...

दो कानूनविदों ने लोगों तक खासकर बच्चों में कानून की समझ बढ़ाने के लिए एक बेहतरीन पहल की है. इस पहल का नाम है लॉटून्स. 2014 में कानून को सरल तरीके से लोगों तक पहुंचाने के उद्देश्य से इसकी शुरूआत की गई. यह अब कॉमिक्स के रूप में हिंदी और अंग्रेजी भाषा में लोगों तक पहुंच गई है. इसको रचने वाली कानन ध्रु और केली ध्रु हैं. 

लोकतांत्रिक चुनाव में व्यापार का पहलू

लोकतांत्रिक चुनाव में व्यापार का पहलू

जब ये दिख रहा है कि चुनावी नतीजों से शेयर बाजार में ज्वारभाटा आ जाता है तो चुनाव सर्वेक्षण नतीजे भी तो अनिश्चय में निश्चय का आकलन होते हैं. 

कांग्रेस-भाजपा के लिए आत्ममंथन का संदेश देता गुजरात विधानसभा चुनाव परिणाम

कांग्रेस-भाजपा के लिए आत्ममंथन का संदेश देता गुजरात विधानसभा चुनाव परिणाम

कांग्रेस को यह समझना पड़ेगा कि केवल गांधी-नेहरू परिवार की विरासत के दम पर राहुल गांधी 21वीं सदी के भारत, विशेषकर युवाओं को कांग्रेस पार्टी की तरफ आकर्षित नहीं कर पाएंगे. 

International Mens Day: क्या पुरुषों को भी सशक्त बनाने की जरूरत आन पड़ी है?

International Mens Day: क्या पुरुषों को भी सशक्त बनाने की जरूरत आन पड़ी है?

महिला दिवस का मकसद दुनिया में महिलाओं को बराबरी देने के लिए लड़ाई लड़ना, महिलाओं को सशक्त बनाना है. तो क्या पुरुषों को भी सशक्त बनाने की जरूरत आन पड़ी है. 

लड़की होने का 'नाजायज फायदा' उठाना बंद करें...

लड़की होने का 'नाजायज फायदा' उठाना बंद करें...

सब एक्सेप्टेड, लेकिन हमें ये भी स्वीकारना होगा कि महिलाएं जो पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाने की बात करती हैं वो लड़की होने का बेवजह फायदा भी उठाती हैं.

केजरीवाल के 5 साल और 6 सवाल...

केजरीवाल के 5 साल और 6 सवाल...

कोई राजनीतिक दल जनता के सरोकार का निकाय ही होता है सो यह देख लेने में हर्ज क्या है कि इस समय आम आदमी पार्टी और राजनीतिज्ञ केजरीवाल कहां तक पहुंचे हैं. इस बहाने मौजूदा राजनीतिक माहौल पर भी नज़र पड़ जाएगी. सरसरी तौर पर देखना चाहें तो छह सवालों पर सोच सकते हैं. 

पर्यावरण सुधार कर दो फीसदी जीडीपी बढ़ाने का खर्चा क्या बैठेगा?

पर्यावरण सुधार कर दो फीसदी जीडीपी बढ़ाने का खर्चा क्या बैठेगा?

पर्यावरण की चिंता करने वाले लोग तर्क दे रहे हैं कि अगर पर्यावरण को सुधार लिया जाए तो देश की जीडीपी दो फीसद बढ़ जाएगी, लेकिन इस सुझाव में यह हिसाब ग़ायब है कि वैसा पर्यावरण बनाने में जीडीपी का कितना फ

क्या हिंसक प्रतिस्पर्धा का दबाव मौत को आसान बना देता है?

क्या हिंसक प्रतिस्पर्धा का दबाव मौत को आसान बना देता है?

जिस आर्थिक विकास की अवधारणा और नीति को हमने अपनाया है, उसमें सबसे आगे रहना ही मायने नहीं रखता है; इसमें जरूरी है सबको पीछे छोड़कर आगे बढ़ना.

भारत में आत्महत्या का 'संकट काल'...

भारत में आत्महत्या का 'संकट काल'...

गरीबी का सबसे गहरा जुड़ाव बेरोज़गारी और आजीविका के संकट से हैं. राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो के प्रतिवेदनों के मुताबिक, भारत में वर्ष 2001 से 2015 के बीच 72,333 लोगों ने गरीबी और बेरोज़गारी के कारण आत्महत्या की.

मेहनत ज्‍यादा, लेकिन वेतन में पुरुषों से पीछे हैं महिलाएं

मेहनत ज्‍यादा, लेकिन वेतन में पुरुषों से पीछे हैं महिलाएं

श्रम ज्यादा करें पर पारिश्रमिक पुरुषों से कम मिले; यह प्रमाण है व्यवस्था पर मर्दों के जबरिया कब्ज़े का.

डियर जिंदगी: 'इतनी मुद्दत बाद मिले हो, किन सोचों में गुम रहते हो...'

डियर जिंदगी: 'इतनी मुद्दत बाद मिले हो, किन सोचों में गुम रहते हो...'

मिलने का पर्यायवाची क्‍या है! मोबाइल/चैटिंग? अगर यह सवाल हम जिंदगी से करें तो एक ही जवाब आएगा. मिलना! असल में मिलने को कोई पर्यायवाची है ही नहीं.

युद्ध विकल्प नहीं, शांति संभव नहीं... तो क्या करे भारत?

कश्मीर घाटी के उड़ी में भारतीय सेना के शिविर पर आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। पाकिस्तान की किसी भी तरह के हमले की तैयारियों के बीच भारत भी सीमा पर अपनी तैयारी मजबूत

स्वीमिंग का 'महामानव' माइकल फेलेप्स

स्वीमिंग का 'महामानव' माइकल फेलेप्स

लंबी कदकाठी, सुगठित काया, 6 फीट चार इंट की लंबाई और 6 फीट सात इंच का विंग स्पैन। माइकल फेलेप्स ओलंपिक की दुनिया में उन खिलाड़ियों में शुमार होते हैं जो चुनौती देकर जीत हासिल करना बखूबी जानता है। खे

राहुल की शादी से बदलेगी कांग्रेस?

अगले महीने इलाहाबाद के आनंद भवन में संपन्न होगी, सियासत के गलियारों में ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं। 

जंबो जेट के कंधों पर जंबो जिम्मेदारी

कुंबले को उनके जमाने के साथी 'जंबो' नाम से पुकारते थे। दरअसल कुंबले का निक नेम जंबो है। एक स्पिन गेंदबाज के रूप में जंबो जेट जैसी तेजी वाली गेंद फेंकने के चलते उनका नाम जंबो नहीं पड़ा था, बल्कि अपन

NSG सदस्यता : भारत के बढ़ते दबदबे से घबड़ाया चीन

भारत परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) का सदस्य बन पाता है कि नहीं इस पर दुनिया भर की निगाहें टिकी हैं। चीन ने कहा है कि सियोल में होने वाली इस अहम बैठक में भारत क

....ओ सूरज दादा और कितना जलाओगे!

गर्मी का मौसम है तो ज़ाहिर सी बात है गर्मी होगी ही और होनी भी चाहिए क्योंकि कहा भी जाता है कि मौसम को मोटे तौर पर जाड़ा गर्मी बरसात के खानों में बांटा गया है और हर मौसम का अपना मज़ा और नुकसान दोनों

पश्चिम बंगाल में फिर चला 'दीदी' का जादू

पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी के नेतृत्‍व वाली तृणमूल कांग्रेस की ऐसी आंधी बहेगी, इसकी उम्‍मीद शायद न तो 'दीदी' को रही होगी और न ही उनके किसी पार्टी कार्यकर्ता को। दीदी के लिए यह किसी अत्प्रत्याशित जीत से कम नहीं है। तृणमूल कांग्रेस को दो तिहाई बहुमत और लगातार दूसरी बार राज्‍य की सत्‍ता में वापसी। पश्चिम बंगाल का ये प्रचंड चुनावी नतीजा खुद में काफी कुछ बयां करता है। पश्चिम बंगाल में 34 साल की मजबूत साम्यवादी सरकार को जड़ से उखाड़ फेंकने के बाद सत्‍तारुढ़ होना और फिर दोबारा वापसी करना यह साबित करता है कि ममता की सत्‍ता पर कितनी मजबूत पकड़ है।

जगन्नाथ पुरी: भाव और भक्ति के सर्वोत्तम नाथ

जगन्नाथ पुरी: भाव और भक्ति के सर्वोत्तम नाथ

पुरी के जगन्नाथ मंदिर जाने और उनके अद्भुत स्वरूप के दर्शन करने की इच्छा बचपन से बलवती थी। एक बार भुवनेश्वर जाने का मौका भी मिला था। लेकिन हालात इस कदर अनुकूल नहीं थे और मैं चाहकर भी वहां जा नहीं पा

'संघ फोबिया' में जीने लगे हैं नीतीश?

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने एक साथ संघ यानी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मुक्त भारत और शराब मुक्त भारत (एल्कोहल फ्री इंडिया) का एक साथ आह्वान क