घाटी की फिजा में बदलाव की बयार

ऐसा उत्‍साह पहले कभी नहीं देखा गया। सियासत और रियासत की तकदीर बदलने की अवधारणा लिए लोगों ने पूरे जोशो खरोश के साथ भरपूर मतदान किया। सिर्फ मतदान ही नहीं बल्कि रिकॉड मतदान जो एक साथ कई संदेश दे गई। संदेश भी ऐसा कि पहली मर्तबा घाटी की फिजा में बदलाव की बयार नजर आने लगी। ऐसा लग रहा है कि मानो कश्मीर की सियासत परंपराओं की जंजीरों से आजाद होती नजर आ रही है।

कैसे-कैसे संत

हिसार के सतलोक आश्रम में जो कुछ घटित हुआ है, उसने धर्मगुरुओं, गदिद्यों और डेराओं की गिरती प्रतिष्ठा को और गिराने का काम किया है। रामपाल के आश्रम से विलासिता की वस्तुओं की बरामदगी इस बात का इशारा कर

21वीं सदी का शाही समाजवाद!

समाजवाद और लोहियावाद को केन्द्र में रखकर राजनीति की बात करने वाले मुलायम सिंह यादव 75 साल के हो गए हैं। जन्मदिन की पूर्व संध्या (21 नवंबर) पर लंदन से मंगाई गई खास विंटेज बग्घी में सवार होकर रामपुर की सड़कों पर मुलायम ने जिस तरह से जनता का अभिवादन स्वीकार किया उससे राममनोहर लोहिया और आचार्य नरेंद्र देव की आत्मा जरूर कराह रही होंगी।

बल्ले का बेमिसाल जादूगर रोहित शर्मा

बल्ले का बेमिसाल जादूगर रोहित शर्मा

देश में दीपावली का त्यौहार पिछले महीने 23 अक्टूबर को मनाया गया था। लेकिन 13 नवंबर को कोलकाता के ईडेन गार्डेन स्टेडियम में क्रिकेट के मैदान में जो कुछ हो रहा था उससे ऐसा लगा कि दिवाली एक बार फिर आ गई हो। यह दिवाली दीयों की नहीं बल्कि बल्ले से निकलते ताबड़तोड़ रनों की थी। भारतीय क्रिकेटर रोहित शर्मा ने क्रिकेट के मैदान पर ऐसा ऐतिहासिक कारनामा कर दिखाया जो आज तक किसी ने नहीं किया था।

फिर से एकजुट होगा जनता परिवार?

नरेंद्र मोदी की लहर से विपक्षी पार्टियां घबड़ाई हुई हैं। विपक्षी दल उम्मीद लगाए बैठे थे कि समय गुजरने के साथ ही मोदी लहर कमजोर पड़ जाएगी और उनकी राजनीति पहले की तरह थोड़े नफा-नुकसान के साथ चलती रहेगी।

मृदुभाषी देवेंद्र फड़नवीस के विरोधी भी हैं प्रशंसक

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों से पहले देवेंद्र फड़नवीस कोई बड़ा नाम नहीं था। देवेंद्र बिना चर्चा में आए पार्टी के लिए काम करते रहे और जब समय आया तो पार्टी ने उनके सिर पर मुख्यमंत्री पद का ताज रखने में कोई देरी नहीं की।

हरियाणा को मिल गए नए 'लाल'

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) में कई दशकों तक सक्रिय रहे और हरियाणा में गैर जाट पृष्ठभूमि के नए मुख्यमंत्री बनने जा रहे मनोहर लाल खट्टर जमीन से जुड़े हुए और व्यावहारिक शख्सियत माने जाते हैं। उनकी सबसे बड़ी खूबी यह है कि वो कठिन चुनौतियों से निपटने का माद्दा और सूझबूझ रखते हैं।

हरियाणा, महाराष्‍ट्र में बीजेपी का परचम

लोकसभा चुनावों में अपने बलबूते पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को पहली बार स्पष्ट बहुमत दिलाने वाले नरेंद्र मोदी का 'जादू' महाराष्‍ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनाव में भी चला। चुनाव नतीजों के अनुसार, दोनों राज्‍यों में बीजेपी का परचम लहराया।

ना'पाक' हरकतों को जवाब देने का माकूल वक्त

सीजफायर, सीजफायर उल्लंघन, पाकिस्तानी गोलीबारी, मौत, पलायन। यह सब वहीं शब्द है जो सीमा पर यानी LoC के ईर्द-गिर्द गोलियों के साथ रोजाना वहां की फिजाओं में गूंजते हैं। पिछले चंद दिनों में पाकिस्तान की

कैलाश सत्यार्थी : सत्य और शांति का दूत

यह एक अकाट्य सत्य है कि जिस दिन दुनिया सत्य के अर्थ को समझ लेगी उस दिन वह शांति पा लेगा। कैलाश सत्यार्थी को शांति का नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा इसी दिशा में एक छोटा सा प्रयास है। साथ में पाकि

कश्मीर में आपदा से क्या सीखा?

सदियों से कश्मीर को धरती का स्वर्ग माना जाता रहा है, और यहां आए जल-प्रलय ने इस बात को साबित कर दिया कि स्वर्ग भी नरक बनने का सामर्थ्य रखती है। बड़ा सवाल यह कि धरती के इस स्वर्ग को नरक बनने का सामर्

मोदीमय अमेरिका

अमेरिका में बसे अप्रवासी भारतीयों के बीच भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता सिर चढ़कर बोल रही है। इसकी बानगी न्‍यूयॉर्क में उस समय दिखी, जब मोदी ने वहां मेडिसन स्क्वायर गार्डन में भारतीय अमेरिकी समुदाय को बिल्‍कुल रॉक स्‍टार सरीखे अंदाज में संबोधित किया।

यूएन में नरेंद्र मोदी के दो टूक बोल

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 69वें सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन कई मायनों में महत्वपूर्ण है। वैश्विक पटल पर एक बड़ी शख्सियत के रूप में उभर रहे भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया के इस सबसे बड़े मंच से क्या संदेश देते हैं, इस पर सबकी नजरें टिकी हुई थीं। मोदी ने अपने 35 मिनट के भाषण में ज्वलंत अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर दुनिया का ध्यान आकर्षित करते हुए संयुक्त राष्ट्र को उसकी जिम्मेदारियों का अहसास भी कराया। मोदी ने इस मंच से स्टेट्समैन की तरह दुनिया के साथ संवाद किया।

सत्ता मोह में ढाई दशक की दोस्ती कुर्बान

कहते हैं कि सियासत में वैचारिक दोस्ती से कहीं ज्यादा अहमियत सत्ता मोह की होती है। कुछ ऐसा ही महाराष्ट्र में भाजपा, शिवसेना तथा अन्य छोटे दलों से मिलकर बनी महायुति के साथ घटित हुआ। महाराष्ट्र में 48 साल पुरानी पार्टी शिवसेना और 34 साल पुरानी भारतीय जनता पार्टी का 25 साल पुराना गठबंधन टूट गया। गठबंधन टूटने की वजह भले ही महाराष्ट्र चुनाव में सीटों की हिस्सेदारी को माना जा रहा हो, लेकिन हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है।

मंगलयान की कामयाबी, 'मंगल ही मंगल'

बुधवार सुबह भारत ने अंतरिक्ष और मंगल मिशन के इतिहास में अपना नाम सुनहरे अक्षरों में दर्ज करा लिया। यह सुबह खास थी क्योंकि मंगलवार के बाद बुधवार को भारत ने उस ग्रह पर कामयाबी पाई जिसे लाल ग्रह के रू

मोबाइल की दुनिया में डिजिटल क्रांति का आगाज

विज्ञान और तकनीक का जादू मोबाइल में नित नए सुविधाओं और खूबियों को पिरोता है जिससे मोबाइल का बाजार देश और दुनिया में सबसे ज्यादा करवटें ले रहा है। पिछले पांच साल में अगर आप तुलना करे तो 20 से 30 हजा

बीजेपी को बड़ा झटका

नरेंद्र मोदी की अगुवाई में लोकसभा चुनावों में परचम फहराने के कुछ ही महीनों के बाद भारतीय जनता पार्टी को उपचुनावों में बड़ा झटका लगा है। दस राज्यों में लोकसभा की तीन और विधानसभा की 33 सीटों पर हुए उ

जन को मिल पाएगा 'धन'

एनडीए सरकार की महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री जन धन योजना की राज्यों में भी जोर शोर से शुरुआत हुई। पीएम नरेंद्र मोदी के दिल्ली में इस योजना का शुभारंभ करते ही पहले ही दिन देश भर में 1.5 करोड़ बैंक खाते

लव-जिहाद : समझो तो अमृत वरना जहर

लव-जिहाद एक वास्तविकता है, लेकिन साथ ही लव और जिहाद दोनों विरोधाभासी भी हैं। लव कभी जिहाद नहीं हो सकता और जिहाद कभी लव नहीं हो सकता है। दरअसल लव-जिहाद कोई ऐसा शब्द नहीं जिसको सियासी जामा पहनाया जाए। यह बेहद गंभीर शब्द है और इसको कायदे से समझने की जरूरत है। जिसने इसका गूढ़ अर्थ समझ लिया उसके लिए यह अमृत और जिसने नहीं समझा उसके लिए जहर।

नया एजेंडा और नए विचारों की इबारत

देश के 68वें स्‍वाधीनता दिवस के मौके पर योजना आयोग को समाप्त करने का ऐलान किया गया। बीते मई महीने में नरेंद्र मोदी सरकार के गठन के बाद से ही इस बात की चर्चा होने लगी थी कि योजना आयोग के दिन अब लद गए। हाल के वर्षों में कई दफा विवादों में घिरा रहा 64 साल पुराना योजना आयोग अब जल्द ही इतिहास बन जाएगा।