बिजनेस जगत की वो 10 घटनाएं, जिनके लिए साल 2018 हमेशा याद किया जाएगा

10 दिसंबर को उर्जित पटेल ने RBI गवर्नर पद से इस्तीफा दिया, वहीं इंग्लैंड की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण की मंजूरी दी.

बिजनेस जगत की वो 10 घटनाएं, जिनके लिए साल 2018 हमेशा याद किया जाएगा
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: इस साल बिजनेस और बैंकिंग क्षेत्र में कुछ ऐसी घटनाएं हुईं, जिसकी वजह से सरकार, जनता और सिस्टम प्रभावित हुई. इनमें RBI के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफा हो या फिर डायमंड कारोबारी नीरव मोदी द्वारा PNB को 13000 करोड़ रुपये का घोटाला हो. इन सभी घटनाओं का आर्थिक और राजनीतिक रूप से बहुत बड़ा असर पड़ा.

1. 2018 की शुरुआत बैंकिंग घोटाले से हुई. पंजाब नेशनल बैंक मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच ने 29 जनवरी को CBI से शिकायत की कि कुछ अधिकारियों की मिलीभगत के चलते नीरव मोदी को 280 करोड़ रुपये का फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (LOU) जारी किया गया है. जांच के बाद पता चला कि यह बहुत बड़ा घोटाला है. घोटाले की राशि 13700 करोड़ रुपये है.

2. इस घोटाले का PNB पर इतना बड़ा असर हुआ कि, इसके शेयर की कीमत 45 फीसदी तक घट गई है. बैंकिंग घोटाले की वजह से जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक को 13,417 करोड़ रुपये का घाटा हुआ. यह भारतीय बैंकिंग के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा घाटा है.

3. अप्रैल महीने में TCS का मार्केट कैप बढ़कर 100 अरब डॉलर के पार पहुंच गया. यह देश की दूसरी कंपनी बनी जिसका मार्केट कैप 7  लाख करोड़ के पार निकल गया. अक्टूबर 2007 में रिलायंस का मार्केट कैप 7 लाख करोड़ के पार पहुंचा था.

4. 12 जुलाई 2018 को रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप दूसरी बार 7 लाख करोड़ के पार पहुंचा. 11 साल पहले 2007 में रिलायंस का मार्केट कैप पहली बार 7 लाख करोड़ के पार पहुंचा था.

5. जुलाई महीने में ही मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 3.10 लाख करोड़ के पार पहुंच गई. जिसके बाद उन्होंने चीन की कंपनी अलीबाबा ग्रुप के चेयरमैन जैक मा को पीछे छोड़कर एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए.

6. अक्टूबर महीने में कर्नाटक चुनाव के बाद अचानक पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़नी शुरू हो गईं. 4 अक्टूबर को मुंबई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 91.34 पैसे तक पहुंच गई थी. यह अपने रिकॉर्ड स्तर पर था.

7. अक्टूबर महीने में ही डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत गिरकर 74.39 पर पहुंच गई. यह साल का सबसे न्यूनतम स्तर है.

8. 10 दिसंबर को RBI के तत्कालिन गवर्नर उर्जित पटेल ने अचानक अपने पद से इस्तीफा दे दिया. उनकी जगह पर शक्तिकांत दास को RBI का नया गवर्नर नियुक्त किया गया है.

9. जाते-जाते दिसंबर के महीने में एक अच्छी खबर भी आई. 10 दिसंबर को ही इंग्लैंड की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने शराब कारोबारी विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण की मंजूरी दे दी. माल्या पर भारतीय बैंकों के 9000 करोड़ रुपये बकाया हैं.

10. 2018 में ही दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी वॉलमार्ट ने भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट को खरीद लिया. वॉलमार्ट ने 1 लाख करोड़ में कंपनी की 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली. इससे पहले वॉलमार्ट का बिजनेस केवल ऑफलाइन मार्केट में था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.