10,000 रुपये कैसे बनेंगे 2 करोड़ ? PPF या म्यूचु्अल फंड्स में से किसमें लगाएं पैसा, देखिए

Mutual Funds Vs PPF: वैसे तो म्यूचुअल फंड्स और Public Provident Fund की कोई तुलना नहीं है. दोनों ही अलग तरह के निवेश के विकल्प हैं. म्यूचुअल फंड्स में रिस्क ज्यादा है तो रिटर्न भी ज्यादा है, जबकि PPF में सेफ्टी ज्यादा लेकिन रिटर्न कम है.

10,000 रुपये कैसे बनेंगे 2 करोड़ ? PPF या म्यूचु्अल फंड्स में से किसमें लगाएं पैसा, देखिए

नई दिल्ली: Mutual Funds Vs PPF: वैसे तो म्यूचुअल फंड्स और Public Provident Fund की कोई तुलना नहीं है. दोनों ही अलग तरह के निवेश के विकल्प हैं. म्यूचुअल फंड्स में रिस्क ज्यादा है तो रिटर्न भी ज्यादा है, जबकि PPF में सेफ्टी ज्यादा लेकिन रिटर्न कम है. दोनों ही निवेश के दो बिल्कुल अलग इंस्ट्रूमेंट्स हैं. 

PPF, MF में कौन है बेहतर ?

फिर भी अगर आपको चुनना हो कि लंबी अवधि में करोड़पति बनने के लिए कौन बेस्ट है तो आप क्या करेंगे. हालांकि इसका सीधा सीधा जवाब देना संभव नहीं है, क्योंकि दोनों के अपने फायदे और नुकसान हैं. जहां म्यूचुअल फंड्स में पैसा कभी भी डाल और निकाल सकते हैं, सिवाय ELSS फंड्स के, जिसमें लॉक इन पीरियड 3 साल का होता है. जबकि PPF में आपका पैसा 15 साल के लिए लॉक हो जाता है. 

ये भी पढ़ें- Petrol Price Today 18 May 2021: मुंबई में पेट्रोल 99 रुपये के पार! मई में अबतक 10 बार बढ़े दाम

 

मान लीजिए आपकी उम्र 30 साल है, 60 साल के होने तक आप 10,000 रुपये हर महीने SIP के जरिए म्यूचुअल फंड्स में लगाते हैं. यानी साल का 1.2 लाख रुपये आप निवेश करते हैं. इतनी ही रकम आप PPF में भी हर साल निवेश करते हैं. तो रिटायरमेंट के दिन आपके पास कितनी रकम होगी. 

(A) SIP के जरिए MF में निवेश 

उम्र                                30 साल
निवेश की अवधि              30 साल
अनुमानित रिटर्न              10 परसेंट
मंथली SIP                     10,000 
कुल निवेश                      36 लाख
कुल रिटर्न                      1.91 करोड़ 
कुल वैल्यू                       2.28 करोड़ 

(B) PPF में के जरिए निवेश 

उम्र                             30 साल
निवेश की अवधि           30 साल 
सालाना निवेश              1.2 लाख
कुल निवेश                  36 लाख
कुल रिटर्न                   87.6 लाख
मैच्योरिटी                    1.23 करोड़ 

तो जैसा कि दिख रहा है अगर आप 10000 रुपये मंथली म्यूचुअल फंड में 30 साल तक निवेश करते हैं तो आपको 2.28 करोड़ रुपये तब मिलेंगे जब आप 60 साल के हो जाएंगे, जबकि यही रकम अगर आप PPF में डालते हैं और 15 साल के बाद 5-5 साल के लिए आगे बढ़ाते हैं और 30 साल तक निवेश जारी रखते हैं तो आपको रिटायरमेंट की उम्र में मिलेंगे 1.23 करोड़ रुपये मिलेंगे. मतलब आपको म्यूचुअल फंड्स के मुकाबले 1 करोड़ रुपये कम रकम मिलेगी. 

PPF में 30 साल बाद आपको 1.23 करोड़ रुपये की रकम आपको मिली है, उसके लिए आपने 10,000 रुपये हर महीने जमा किए हैं, आपको इतनी ही रकम म्यूचुअल फंड्स से हासिल करने के लिए 10,000 रुपये की जगह सिर्फ 5400 रुपये ही हर महीने जमा करने होंगे, देखिए 

(C) SIP के जरिए निवेश 

उम्र                                30 साल
निवेश की अवधि              30 साल
अनुमानित रिटर्न              10 परसेंट
मंथली SIP                     5400   
कुल निवेश                     19.44 लाख
कुल रिटर्न                      1.03 करोड़ 
कुल वैल्यू                       1.23 करोड़  

रिटर्न के हिसाब से म्यूचुअल फंड्स हमेशा ही PPF पर भारी पड़ता है, लेकिन रिस्क के मामले में PPF ज्यादा सुरक्षित है, आपको एक निश्चित रिटर्न मिलता है जिसकी गारंटी भारत सरकार लेती है, लेकिन म्यूचुअल फंड्स मार्केट के उतार चढ़ाव पर निर्भर करता है, इसके रिटर्न की कोई गारंटी नहीं होती है. हालांकि म्यूचुअल फंड्स में कई फंड्स ऐसे होते हैं जो कम रिस्की भी होते है, लेकिन उनका रिटर्न कम होता है. 

ये भी पढ़ें- EPFO: खाताधारकों के लिए एक और फायदा! EDLI स्कीम में अब मुफ्त में मिलेगा 7 लाख रुपये तक का कवर

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.