छोटी जोत के लिए 11.2 एचपी का ‘कृषि शक्ति’ ट्रैक्टर पेश

छोटी जोत रखने वाले किसानों की सुविधा के लिए सरकार ने ‘कृषि शक्ति’ नामक ट्रैक्टर की पेशकश की है। यह टैक्टर वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) द्वारा विकसित किया गया है।

नई दिल्ली : छोटी जोत रखने वाले किसानों की सुविधा के लिए सरकार ने ‘कृषि शक्ति’ नामक ट्रैक्टर की पेशकश की है। यह टैक्टर वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) द्वारा विकसित किया गया है।

इस ट्रैक्टर को गुरुवार को केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने पेश किया। इस ट्रैक्टर में 11.2 अश्वशक्ति (एचपी) का डीजल इंजन लगा है जिसे सीएसआईआर के केन्द्रीय मेकेनिकल इंजीनियरिंग रिसर्च संस्थान, दुर्गापुर द्वारा डिजाइन किया गया है। सीएसआईआर द्वारा विकसित किया जाने वाला यह तीसरा ट्रैक्टर है और उद्योग जगत को प्रौद्योगिकी का सफल अंतरण किया जायेगा।

ट्रैक्टर के विकास में संलग्न सीएसआईआर के एक अधिकारी ने कहा, 'भारत में करीब 85 प्रतिशत परिवार कुल खेती योग्य जमीन के करीब 36 प्रतिशत भाग में खेती करते हैं। छोटे किसानों की औसत जोत एक हेक्टेयर से अधिक की नहीं होती है। इसलिए औसत किसान के लिए 35 एचपी या इससे अधिक के मानक ट्रैक्टर का इस्तेमाल करते हुए मशीनीकृत खेती करना काफी मुश्किल होता है जिसके कारण खेती में उत्पादकता और खेत की प्रति इकाई उपज प्रभावित होती है।'

उन्होंने कहा कि परिणामस्वरूप छोटे, ‘काम्पैक्ट’ और आसानी से संचालित होने वाले ट्रैक्टर को विकसित करने की भारी मांग है जो 10 से 12 एचपी की क्षमता का हो और जो छोटे और टुकड़ों में बंटे छोटे खेतों के लिए उपयुक्त हो।