Gautam Adani का हुआ 'धारावी स्लम', सबसे बड़ी बोली लगाकर हासिल किया रिडेवलप प्रोजेक्ट
topStories1hindi1463381

Gautam Adani का हुआ 'धारावी स्लम', सबसे बड़ी बोली लगाकर हासिल किया रिडेवलप प्रोजेक्ट

Adani Group wins mumbai Dharavi: धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के लिए Adani Group की बोली 5,069 करोड़ रुपये की थी, जबकि डीएलएफ (DLF) की बोली 2,025 करोड़ की थी. सरकार ने 17 सालों में धारावी स्लम के रिडेवलपमेंट का काम पूरा होने का लक्ष्य तय किया है. आइये जानते हैं विस्तार से.

Gautam Adani का हुआ 'धारावी स्लम', सबसे बड़ी बोली लगाकर हासिल किया रिडेवलप प्रोजेक्ट

Adani Group Wins mumbai Dharavi Redevelopment: देश ही नहीं, दुनिया के दिग्गज रईस और बिजनेस मैन गौतम अडानी ने बड़ी डील की है. एशिया का सबसे बड़ा स्लम मुंबई के धारावी (Dharavi) के रिडेवलपमेंट का काम दुनिया के तीसरे सबसे अमीर और एशिया के सबसे रईस गौतम अडानी (Gautam Adani) की कंपनी करेगी. इस दौड़ में तमाम कंपनियों को पछाड़ते हुए Adani Group की कंपनी अडानी रियल्टी (Adani Realty) ने धारावी स्लम के कायाकल्प के रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट की बोली जीत ली है. अब गौतम अडानी इस प्रोजेक्ट को पूरा करेंगे.

गौतम अडानी ने जीती बोली 

पीटीआई के रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र सरकार (Maharastra Govt) ने मंगलवार 29 नवंबर को धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट (Dharavi redevelopment Project) के लिए प्राप्त बिड्स को खोला, जिसमें कई दिग्गज हस्ती शामिल हुए. is प्रोजेक्ट के सीईओ एसवीआर श्रीनिवास की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, 'इसके लिए तीन बोलियां मिली थीं, जिनमें से एक नमन ग्रुप (Naman Group) की बोली बिडिंग में क्वालिफाई नहीं कर सकी. इसके बाद अडानी रियल्टी और डीएलएफ (DLF) की बोली को खोला गया.'

अडानी ग्रुप ने लगाई इतनी बोली

सीईओ के अनुसार, 'Gautam Adani के नेतृत्व वाले अडानी ग्रुप की ओर से इस प्रोजेक्ट के लिए DLF की बिड से दोगुने से भी ज्यादा बोली लगाई थी. रिपोर्ट में कहा गया कि अडानी की बोली 5,069 करोड़ रुपये की थी, जबकि धारावी रिडेवलपमेंट के लिए डीएलएफ की बोली 2,025 करोड़ की थी.' आपको बता दें कि धारावी स्लम का क्षेत्र 2.5 वर्ग किलोमीटर में फैला है, जिस परियोजना के लिए सरकार ने सात साल की समयसीमा तय की है.

अब होगा बड़ा फायदा 

दरअसल, सरकार ने इसके लिए पूरी प्लानिंग की है. सरकार ने यह तय किया था कि किसी कंपनी के साथ करार कर स्लम एरिया को संवारेगी. Dharavi redevelopment Project से इस एरिया में झुग्गी झोपड़ियों में रहने वालों को बड़ा फायदा होगा. सरकार मुंबई को बेहतर बनाने की दिशा में ये बड़ा कदम उठाई है.

इस प्रोजेक्ट के तहत धारावी के झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों को फ्री में घर मिलेगा, जिससे इनका जीवन स्तर बढेगा. कमेंसमेंट सर्टिफिकेट जारी होने के बाद पहले चरण का काम 7 साल में पूरा करने की उम्मीद जताई जा रही है. आपको बता दें कि धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत झुग्गियों में रह रहे 6.5 लाख लोगों का पुनर्वास करना लक्ष्य है. धारावी स्लम का क्षेत्र 2.5 वर्ग किलोमीटर में फैला है, जिसका पूरा प्रोजेक्ट करीब 20,000 करोड़ रुपये से अधिक का है. 

Trending news