Air India ने की नए युग की शुरुआत, अतिरिक्त ईंधन के बिना देश की पहली उड़ान भरी

इस विमान में ऐसी किसी अतिरिक्त मात्रा में ईंधन नहीं था जो उड़ानों के मार्ग में किसी आकस्मिक परिवर्तन की स्थिति को ध्यान में रख कर रखा जाता है.

Air India ने की नए युग की शुरुआत, अतिरिक्त ईंधन के बिना देश की पहली उड़ान भरी
हैदराबाद एयरपोर्ट रोजाना इस रूल को फॉलो करेगी.

हैदराबाद: ईंधन संरक्षण और उत्सर्जन में कमी की दिशा में नये युग की शुरुआत करते हुए एयर इंडिया की एक उड़ान पहले के मुकाबले कम विमान-ईंधन के साथ सोमवार को हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरी. इस विमान में ऐसी किसी अतिरिक्त मात्रा में ईंधन नहीं था जो उड़ानों के मार्ग में किसी आकस्मिक परिवर्तन की स्थिति को ध्यान में रख कर रखा जाता है. एयर इंडिया के एक अधिकारी ने बताया, 'यह देश की पहली उड़ान थी, जो बिना अतिरिक्त ईंधन लिए उड़ी.' 

उसने कहा, 'हम आने वाले समय में हर दिन हैदराबाद आने वाली सभी 15 उड़ानों के लिए इस चीज को लागू करेंगे.' एयरलाइन के अनुसार ऐसे हवाई अड्डे पर नियमों के अनुसार ऐसे रिजर्व ईंधन बिना भी उड़ान परिचालित की जा सकती है जहां हर मौसम में इस्तेमाल लायक दो हवाई पट्टियां काम कर रही हों. एयर इंडिया की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि नियमों के मुताबिक हर विमान को उड़ान भरने से पहले गंतव्य एवं मार्ग में परिवर्तन की स्थिति में किसी वैकल्पिक हवाई अड्डा के लिए पर्याप्त ईंधन लेकर चलना आवश्यक है. 

पाकिस्तान की वजह से Air India को रोजाना 6 करोड़ का नुकसान, अब तक 300 करोड़ का घाटा

ऐसे में मार्ग में किसी तरह का परिवर्तन नहीं होने पर बहुत अधिक बेकार वजन लेकर चलना होता था. विज्ञप्ति में कहा गया है, 'नियमों में ऐसे प्रावधान भी उपलब्ध हैं, जो सुरक्षा के मुद्दे से समझौता किये बगैर अतिरिक्त ईंधन के बिना उड़ानों के परिचालन की इजाजत देते हैं.'