2008 के बाद सबसे बड़ी गिरावट, पल भर में 5 लाख करोड़ स्‍वाहा, आर्थिक मंदी की आहट

ये 2008 के वित्‍तीय संकट के बाद एक दिन में सबसे बड़ी गिरावट है.

2008 के बाद सबसे बड़ी गिरावट, पल भर में 5 लाख करोड़ स्‍वाहा, आर्थिक मंदी की आहट
मंगलवार सुबह सेंसेक्‍स में 1200 अंकों से भी ज्‍यादा की तेज गिरावट दर्ज हुई.

जब अमेरिकी चैनल राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के चैनल का लाइव प्रसारण कर रहे थे, उसी दौरान अमेरिकी स्‍टॉक एक्‍सचेंज डाओ जोंस में जबर्दस्‍त गिरावट की खबर आई. चैनलों ने इस लाइव कवरेज को हटाकर रिकॉर्ड गिरावट की खबर को दिखाना शुरू कर दिया. 2008 की आर्थिक मंदी के बाद अमेरिकी स्‍टॉक मार्केट डाओ जोंस में सबसे बड़ी गिरावट का असर दुनिया भर के बाजारों में देखने को मिला है. भारत में बजट के पेश होने के बाद से ही गिरावट का रुख झेल रहा शेयर बाजार इस सूचना के बाद मंगलवार सुबह खुलते ही भरभरा कर औंधे मुंह गिर गया. सेंसेक्‍स में सुबह खुलने के साथ ही 1250 अंक की तेज गिरावट दर्ज की गई. मीडिया रिपोर्टों के आरंभिक अनुमानों के मुताबिक इस कोहराम की वजह से निवेशकों के पांच लाख करोड़ रुपये स्‍वाहा होने की खबर है.

आर्थिक मंदी
अमेरिकी स्‍टॉक एक्‍सचेंज डाओ जोंस जब सोमवार को बंद हुआ तो उसमें अंतिम समय तक 1175 अंकों की गिरावट देखी गई. ये 2008 के वित्‍तीय संकट के बाद एक दिन में सबसे बड़ी गिरावट है. उस आर्थिक संकट की वजह से अमेरिकी बाजार पूरी तरह से बर्बाद हो गए थे. दुनिया भर में नौकरियों का संकट पैदा हो गया था. उससे उबरने में वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था को कई साल लगे थे. अब उसके बाद इस तरह की बड़ी गिरावट से एक दशक बाद एक बार फिर आर्थिक मंदी की आहट सुनाई दे रही है.

अमेरिकी बाजार में 6 साल की सबसे बड़ी गिरावट, 1175 अंक टूटा डाओ जोंस

वजह
दरअसल अमेरिकी बाजारों में पिछले सप्‍ताहांत में रोजगार के संबंध में रिपोर्ट आई थी. उसके मुताबिक रोजगार सृजन के मामले में स्थिरता और स्‍थायित्‍व आया है और इसके चलते कर्मचारियों की सैलरी बढ़ने का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया. इन आंकड़ों के बाद अमेरिका में ब्‍याज दरों के बढ़ने का अंदेशा व्‍यक्‍त किया गया. इसके चलते अमेरिकी बांड यील्‍ड 2.85 फीसदी तक बढ़ गया. बांड यील्‍ड का बढ़ना अमेरिकी ब्‍याज दरों में बढ़ोतरी का संकेत होता है.

शेयर बाजार में कोहराम, सेंसेक्स 1100 प्वाइंट से ज्यादा टूटा

एशियाई बाजार भरभराए
वैश्‍वीकरण के इस दौर में अमेरिकी शेयर बाजार में गिरावट का सीधा असर भारत समेत एशियाई बाजारों में देखने को मिल रहा है. भारतीय शेयर बाजारों की तरह ही जापान का निकेई सूचकांक में भी शुरुआती कारोबार में चार फीसद से ज्‍यादा गिरावट देखी गई.

फिर मचेगा नौकरियों में हाहाकार, क्या US में बिगड़ते हालात से है आर्थिक मंदी का खतरा?

अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था
दरअसल 2008 के वित्‍तीय संकट के बाद अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था एक बार फिर पटरी पर लौट आई थी, लिहाजा इस तरह की गिरावट अमेरिका के लिए किसी दुस्‍वप्‍न की तरह है. हालांकि इस बड़ी गिरावट के बाद व्‍हाइट हाउस के प्रवक्‍ता ने कहा कि अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था मजबूत है और स्‍टॉक मार्केट में वक्‍त-वक्‍त पर इस तरह की गिरावट होती रहती है.