सौर उर्जा बिजली की दर 3 रुपये/यूनिट के रिकॉर्ड निम्न स्तर पर

सौर उर्जा की शुल्क दर घटकर 3 रुपये प्रति यूनिट के अब तक के रिकॉर्ड निम्न स्तर तक चली गई है। सोलर एनर्जी कापरेरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आमंत्रित निविदाओं में इस दर पर आपूर्ति की बोली एमप्लस एनर्जी सोल्यूशंस से मिली है। 

सौर उर्जा बिजली की दर 3 रुपये/यूनिट के रिकॉर्ड निम्न स्तर पर

नयी दिल्ली: सौर उर्जा की शुल्क दर घटकर 3 रुपये प्रति यूनिट के अब तक के रिकॉर्ड निम्न स्तर तक चली गई है। सोलर एनर्जी कापरेरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आमंत्रित निविदाओं में इस दर पर आपूर्ति की बोली एमप्लस एनर्जी सोल्यूशंस से मिली है। 

एमप्लस एनर्जी सोल्यूशंस ने आज एक वक्तव्य में कहा कि उसने छतों पर स्थापित सौर उर्जा संयंत्र के लिये अब तक की सबसे सस्ती बिजली उपलब्ध कराने की बोली लगायी है। एमप्लस एनर्जी सोल्यूशंस के अुनसार उसे 10 राज्यों में 14.5 मेगावाट के सौर उर्जा संयंत्रों के अनुबंध मिले हैं। इनमें तीन राज्यों में रिकॉर्ड तीन रुपये प्रति यूनिट पर सौर उर्जा देने की पेशकश की गयी है। बाकी राज्यों में यह दर 5.3 से 6.2 रुपये प्रति यूनिट के दायरे में है। ये दरें 25 साल के लिये तय की गई हैं।’ वक्तव्य के अनुसार एमप्लस ने यह बोली छत पर लगने वाले ग्रिड से जुड़ी 500 मेगावाट की सौर उर्जा परियोजना के तहत हासिल की है।

बोली के तहत उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और पुड्डुचेरी को 3 रुपये प्रति यूनिट की दर पर यह बिजली उपलब्ध होगी जबकि कर्नाटक, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र जैसे राज्यों को 5.56 रुपये प्रति यूनिट, राजस्थान को 5.38 रुपये यूनिट, हरियाणा को 5.76 रुपये और पंजाब को 6.20 रुपये प्रति यूनिट की दर पर बिजली उपलब्ध कराई जायेगी।