close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अरुण जेटली ने रघुराम राजन की ‘मेक इन इंडिया’ की आलोचना की खारिज

आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन की ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम की आलोचना को खारिज करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि यह कम कीमत पर अच्छी गुणवत्ता वाले उत्पादों के विमिर्नाण से जुड़ा है और यह प्रासंगिक नहीं है कि इसे भारत में बेचा जाता है या विदेश में।

अरुण जेटली ने रघुराम राजन की ‘मेक इन इंडिया’ की आलोचना की खारिज

नई दिल्ली : आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन की ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम की आलोचना को खारिज करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि यह कम कीमत पर अच्छी गुणवत्ता वाले उत्पादों के विमिर्नाण से जुड़ा है और यह प्रासंगिक नहीं है कि इसे भारत में बेचा जाता है या विदेश में।

जेटली ने यहां कहा, मेक इन इंडिया के तहत उत्पाद भारतीय उपभोक्ताओं के लिए बनाए जाते हैं या बाहर के उपभोक्ताओं के लिए, यह प्रासंगिक नहीं हैं। आज का सिद्धांत यह है कि विश्व भर के उपभोक्ता ऐसे उत्पाद पसंद करते हैं जो सस्ते और अच्छी गुणवत्ता वाले हों। इससे पहले इसी महीने राजन ने नयी सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ अभियान के बारे में आगाह करते हुए कहा था कि यह चीन के निर्यात केंद्रित वृद्धि मार्ग का अनुसरण है जबकि इसे ‘मेक फॉर इंडिया’ (भारत के लिए बनाएं) होना चाहिए जो घरेलू बाजार के लिए उत्पाद विमिर्नाण पर केंद्रित हो।

जेटली ने आज सुबह ‘मेक इन इंडिया’ समारोह में कहा कि जब तक विनिर्माण क्षेत्र गुणवत्ता और लागत को ध्यान रखने के लिए अपने आप में बदलाव नहीं करता उसे चुनौतियों का सामना करना पड़ता रहेगा। राजन ने प्रोत्साहन के लिए विशेष तौर पर विनिर्माण जैसे क्षेत्र को सिर्फ इस आधार चुनने के प्रति आगाह किया कि यह चीन में सफल रहा है। उन्होंने कहा था, भारत अलग है और अलग दौर में विकसित हो रहा है और हमें इस बारे में निरपेक्ष होना चाहिए कि क्या सफल होगा।