अब नीलेकणि को फि‍र से इन्‍फोसिस में वापस लाने की मांग उठी

बालकृष्णन ने कहा, ‘मौजूदा स्थिति में निदेशक मंडल को नीलेकणि को वापस लाने पर विचार करना चाहिए और मौजूदा चेयरमैन तथा सह चेयरमैन को इस्तीफा देना चाहिए.

अब नीलेकणि को फि‍र से इन्‍फोसिस में वापस लाने की मांग उठी
कंपनी के संस्‍थापक सदस्‍य हैं नीलेकण‍ि . (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :  इन्फोसिस के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) वी बालकृष्णन ने नंदन नीलेकणि को कंपनी का चेयरमैन बनाए जाने की वकालत की. उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति में अपने अनुभव और ग्राहकों की समझ की वजह से नीलेकणि संगठन की अगुवाई करने के लिए एक ‘अच्छा चेहरा’ हो सकते हैं. बालकृष्णन की यह टिप्पणी ऐसे समय आई है, जबकि कई हल्कों से यह मांग उठ रहा है कि नीलेकणि को इन्फोसिस में वापस लाया जाना चाहिए. बालकृष्णन ने कहा, ‘मौजूदा स्थिति में निदेशक मंडल को नीलेकणि को वापस लाने पर विचार करना चाहिए और मौजूदा चेयरमैन आर शेषसायी तथा सह चेयरमैन रवि वेंकटेशन को इस्तीफा देना चाहिए.’’ 

उन्होंने कहा कि नीलेकणि एक अच्छा चेहरा हैं. व्यक्तिगत रूप से मेरा विचार है कि उन्हें वापस लाया जाना चाहिए. उन्हें चेयरमैन के रूप में लाया जाना चाहिए और अच्छे सीईओ की पहचान की जानी चाहिए. बालकृष्णन ने दलील दी कि इन्फोसिस में नीलेकणि का कार्यकाल काफी अच्छा रहा था. उनका ग्राहकों के साथ अच्छा संपर्क था.

यह भी पढ़ें : इन्फोसिस: आसान नहीं होगी विशाल सिक्का के उत्तराधिकारी की तलाश 

उन्होंने कहा, ‘नीलेकणि इस समय वैश्विक और सम्मानित चेहरा हैं. इसके अलावा वह आधार जैसी बड़ी सरकारी परियोजनाओं के लिए काम कर चुके हैं.’हालांकि, इसके बालकृष्णन ने स्पष्ट किया कि इस समय नीलेकणि की वापसी सिर्फ अटकल है. इन्फोसिस के पहले गैर संस्थापक सीईओ विशाल सिक्का ने पिछले सप्ताह अचानक इस्तीफा दे दिया था. इन्फोसिस के निदेशक मंडल ने इसके लिए कंपनी के सह संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति को जिम्मेदार ठहराया था. कंपनी ने कहा है कि वह 31 मार्च, 2018 तक नए सीईओ की तलाश का काम पूरा कर लेगी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.