close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इस वजह से RBI ने बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर लगाया एक करोड़ का जुर्माना

यह जुर्माना बैंक द्वारा रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने पर लगाया गया है.

इस वजह से RBI ने बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर लगाया एक करोड़ का जुर्माना
आरबीआई ने पिछले साल भी बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था. (फाइल)

मुंबई: रिजर्व बैंक ने बुधवार को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. यह जुर्माना अपने ग्राहक को जानिये दिशा निर्देशों (केवाईसी) और धोखाधड़ी- वर्गीकरण नियमों का अनुपालन नहीं करने पर लगाया गया है. केन्द्रीय बैंक ने जारी एक वक्तव्य में यह जानकारी दी है. इसमें कहा गया है कि यह जुर्माना बैंक द्वारा रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने पर लगाया गया है. इसमें कहा गया है, ‘‘यह कार्रवाई नियामकीय अनुपालन में खामी के आधार पर की गई है. इसके पीछे बैंक और ग्राहकों के बीच हुये किसी प्रकार के लेनदेन और समझौते की वैधता को लेकर सवाल उठाने की कोई मंशा नहीं है.’’ 

आरबीआई ने पिछले साल भी बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था. यह जुर्माना एक खाते में धोखाधड़ी का पता लगाने में बैंक की तरफ से की गई देरी को लेकर लगाया गया था. 

इससे पहले पिछले साल जून के महीने में लोन डिफॉल्ट मामले में बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र के सीईओ एंड एमडी रविंद्र मराठे को गिरफ्तार किया गया था. 3000 करोड़ के DSK ग्रुप लोन डिफॉल्ट में पुणे पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेंस विंग ने उन्हें गिरफ्तार किया था. मराठे के अलावा बैंक के एग्जिक्यूटिव डायरेक्ट आर के गुप्ता को भी गिरफ्तार किया गया था. बैंक ऑफ महाराष्ट्र के कार्यकारी निदेशक राजेन्द्र गुप्ता, जोनल मैनेजर नित्यानंद देशपांडे, डीएसके के सीए सुनील घाटपाण्डे, वीपी इंजीनियरिंग विभाग के राजीव नेवास्कर भी गिरफ्तार किए गए हैं.