शेयर बाजार में भूचाल, आज निवेशकों के 2.55 लाख करोड़ स्वाहा

आंकड़े के मुताबिक अकेले मंगलवार (3 सितंबर) को निवेशकों की बाजार हैसियत 2.55 लाख करोड़ रुपये डूब गई. जानकार मान रहे हैं कि आर्थिक संकट और व्यापार युद्ध को लेकर चिंता के बीच निवेशकों की धारणा बुरी तरह प्रभावित हुई है.

शेयर बाजार में भूचाल, आज निवेशकों के 2.55 लाख करोड़ स्वाहा
अमेरिका और चीन के बीच बढ़ते ट्रेड वॉर का असर भारतीय शेयर बाजारों में साफ दिखा.

मुंबई: शेयर बाजार (Share Market) में जारी गिरावट के दौर के चलते निवेशकों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है. आंकड़े के मुताबिक अकेले मंगलवार (3 सितंबर) को निवेशकों की बाजार हैसियत 2.55 लाख करोड़ रुपये डूब गई. जानकार मान रहे हैं कि आर्थिक संकट और व्यापार युद्ध को लेकर चिंता के बीच निवेशकों की धारणा बुरी तरह प्रभावित हुई है. बंबई शेयर बाजार (Share Market)का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मंगलवार को 769.88 अंक या 2.06 प्रतिशत के नुकसान से 36,562.91 अंक पर आ गया. 

zeebiz की खबर के मुताबिक शेयर बाजारों में जोरदार गिरावट से मंगलवार को बंबई शेयर बाजार (Share Market)की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 2,55,585.56 करोड़ रुपये घटकर 1,38,42,866.10 करोड़ रुपये रह गया. 

एक्सिस सिक्योरिटीज के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण ठुकराल ने कहा कि बाजार ने वाहन बिक्री के कमजोर आंकड़ों, जीडीपी की सुस्त रफ्तार पर प्रतिक्रिया दी है. इससे यह संकेत मिल रहा है कि अर्थव्यवस्था में सुस्ता गहरा गई है और मौद्रिक और वित्तीय मोर्चे पर तत्काल उपाय करने की जरूरत है. 

लाइव टीवी देखें-:

सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 28 में नुकसान रहा. बीएसई में 1,613 शेयरों में गिरावट आई, जबकि 817 में लाभ रहा. 178 शेयर अपने पूर्वस्तर पर कायम रहे. मंगलवार को कारोबार के दौरान करीब 200 शेयरों अपने 52 सप्ताह के निचले स्तर पर आ गए.

विलय की खबर से टूटा PNB
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के शुक्रवार को सरकारी बैंकों के विलय का ऐलान किया था. बैंकों के विलय की खबर का नकारात्मक असर सामने आया और मंगलवार के कारोबार में बैंक निफ्टी  1 फीसदी से ज्यादा टूट गया. इनमें सबसे ज्यादा गिरावट सरकारी बैंक PNB में दिखाई दी. पीएनबी में 7.40 फीसदी, ICICI बैंक में 3.28 फीसदी, एक्सिस बैंक में 2.21 फीसदी, फेडरल बैंक में 2.11 फीसदी और इंडसइंड बैंक में 2.06 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई.

क्या रही बाजार में गिरावट की वजह
अमेरिका और चीन में ट्रेड वार में फिर तेजी आई है. दोनों ने एक दूसरे के प्रोडक्ट पर टैरिफ बढ़ा दिए हैं. इस खबर की वजह से ही एशियाई बाजारों के साथ-साथ भारतीय बाजारों पर भी दबाव देखने को मिला. शुक्रवार को आए जीडीपी के कमजोर आंकड़ों ने भी बाजार का मूड खराब किया. वहीं, बैंकों के विलय की खबर से भी बाजार बहुत ज्यादा खुश नहीं हुआ.