Budget 2021-22: आज से शुरू प्री-बजट चर्चा, वित्त मंत्री करेंगी देश के बड़े उद्योगपतियों से पहली बैठक
X

Budget 2021-22: आज से शुरू प्री-बजट चर्चा, वित्त मंत्री करेंगी देश के बड़े उद्योगपतियों से पहली बैठक

आज से आम बजट 2021-22 को लेकर चर्चाओं का दौर शुरू हो जाएगा. देश के जाने माने उद्योगपति, कॉर्पोरेट्स, एक्सपर्ट्स इस प्री बजट चर्चा में शामिल होंगे. आज इसकी पहली बैठक होगी. हर साल बजट के पहले कई स्टेक होल्डर्स के साथ प्री बजट मीटिंग की जाती है. 

Budget 2021-22: आज से शुरू प्री-बजट चर्चा, वित्त मंत्री करेंगी देश के बड़े उद्योगपतियों से पहली बैठक

नई दिल्ली: वित्त मंत्रालय में आज से साल 2021-22 के आम बजट (General Budget) के लिए बैठकों का दौर शुरू हो जाएगा. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) आज कई स्टेकहोल्डर्स (Stakeholder Group) के साथ बजट को लेकर चर्चा करेंगी. 

आज से बजट के लिए बैठकों का दौर शुरू 

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि कोरोना महामारी को देखते हुए ये प्री-बजट बैठकें वर्चुअल होंगी. वित्त मंत्री के साथ इस पहली प्री बजट बैठक में देश के बड़े उद्योगपति शामिल होंगे. इससे पहले कोरोना वायरस को देखते हुए वित्त मंत्रालय ने बजट की तैयारियों के लिए उद्योग संगठनों और एक्सपर्ट्स के सुझाव ई-मेल के जरिए मंगवाने का ऐलान किया था. इसके अलावा सरकार ने MyGov प्लेटफॉर्म भी मुहैया कराया था जो कि आम जनता से बजट पर सुझाव लेने के लिए 15 नवंबर से 30 नवंबर तक खुला था.

 

ये भी पढ़ें- RTGS से अब कभी भी पैसे कर सकते हैं ट्रांसफर, आज से 24X7 काम करेगी सुविधा

वित्त मंत्री ने मंगाए थे सुझाव 

आम बजट इस साल 1 फरवरी को पेश किया जा सकता है. हर साल की तरह इस साल भी लोगों की इस बजट से काफी उम्मीदें हैं. सैलरीड क्लास को उम्मीद होती है कि उसके इनकम टैक्स स्लैब में कुछ बदलाव करके राहत दी जाए. इंडस्ट्री भी चाहती है कि उस पर टैक्स का बोझ थोड़ा कम किया जाए. इसलिए बजट को तैयार करने के लिए हर साल वित्त मंत्रालय देश के हर वर्ग के प्रतिनिधियों से बात करता है, और ये जानने की कोशिश करता है कि लोगों की डिमांड क्या है. इससे बजट बनाने में आसानी होती है. 

बजट से पहले 'आत्मनिर्भर भारत' का रिव्यू 

रविवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने Aatmanirbhar Bharat Package का रिव्यू भी किया. जिसमें सभी विभागों के सचिव और मंत्री शामिल हुए थे. वित्त मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि आत्म निर्भर भारत की प्रोग्रेस और इसको लागू करने को लेकर समीक्षा की गई, इस स्कीम की सरकार लगातार मॉनिटरिंग कर रही है.

ग्रोथ पर हो सकता है फोकस 

इस बजट में उम्मीद है कि सरकार ग्रोथ को लेकर कुछ बड़े फैसले ले सकती है. इसके संकेत वित्त मंत्री कई मौकों पर दे भी चुकी हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने न्यूज एजेंसी Reuters से कहा था कि 'भारत की इकोनॉमी में 2020-21 में तेजी लौटेगी, फरवरी में आने वाले बजट में ऊंचे खर्चों की वजह से अगले चार से पांच सालों में मजबूत ग्रोथ के लिए नींव रखी जाएगी' 

ये भी पढ़ें- आपका राशन कार्ड हो सकता है रद्द, जानिए क्यों 

VIDEO

Trending news