7 लाख करोड़ के मेगा हाईवे प्लान को कैबिनेट मंजूरी, 5 साल में बनेंगे 83000 KM हाईवे

7 लाख करोड़ के मेगा हाईवे प्लान को कैबिनेट मंजूरी, 5 साल में बनेंगे 83000 KM हाईवे
भारतमाला प्रोजेक्ट

नई दिल्ली. भारतमाला के पहले चरण को कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है. देश के अब तक के इस सबसे बड़े हाईवे प्लान के तहत इसके तहत अगले 5 साल के दौरान लगभग 83 हजार किमी से ज्यादा लंबे हाईवे का निर्माण किया जाएगा. प्रोजेक्ट के तहत पहले चरण में 24800 किलोमीटर का नेशनल हाइवे बनाया जाएगा. प्रोजेक्ट के लिए अगले 3-6 महीने में बोलियां मंगाई जाएंगी. वित्त वर्ष 2018 में 4500 किमी हाइवे के लिए ठेके दिए जाने हैं. इस प्रोजेक्ट के तहत हर साल 7000-10000 किमी की की सड़क बनाई जाएगी. प्रोजेक्ट की लागत का 20 फीसदी हिस्सा सरकार खुद वहन करेगी.

पहला चरण में कुल 3.5 लाख करोड़ रुपए का खर्च

प्रोजेक्ट के पहले चरण के तहत 3.5 लाख करोड़ रुपए का निवेश होगा. इसमें करीब 44 इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाए जाएंगे. सबसे पहले 20 इकोनॉमिक कॉरिडोर पर काम शुरू होगा. कार्गो ट्रैफिक के लिए चार लेन हाइवे बनेंगे. एक कॉरिडोर से दूसरे कॉरिडोर में सामान तेजी से भेजा जा सके.

ये भी पढ़ें: GST रिटर्न देर से भरने वालों को मोदी सरकार ने दी बड़ी राहत

क्या है भारतमाला

  • भारतमाला सरकार का एक मेगा हाईवे प्‍लान है.
  • यह एनएचडीपी के बाद दूसरा सबसे बड़ा हाइवे प्रोजेक्‍ट है, जिसमें करीब 50 हजार किमी हाइवे डेवलपमेंट हुआ.
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने एनएचडीपी (नेशनल हाइवे डिवेलपमेंट प्रॉजेक्ट) शुरू किया था. इसे कई फेज में लागू किया गया। इसमें मेट्रो शहरों को जोड़ने के लिए स्‍वर्णिम चतुर्भुज योजना भी शामिल थी.
  • एनएचडीपी के तहत करीब 10 हजार किमी रोड अभी बनाए जाने हैं.
  • श्रीनगर को कन्‍याकुमारी से जोड़ने वाला नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर और पोरबंदर से सिल्‍चर से जोड़ने वाला ईस्‍ट-वेस्ट कॉरिडोर भी इसमें शामिल है.
Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.