मंहगाई के बीच आपका टीवी देखना होगा सस्ता, जानिए कितना हो रहा है फायदा...

पिछले चौबीस घंटे में रेल और हवाई यात्रा मंहगे होने की खबर और तेल-एलपीजी के दामों में बढ़ोतरी के ऐलान के बाद एक अच्छी खबर आपके लिए आई है. अब आपके केबल टीवी Cable TV और डीटीएच (DTH) Direct to Home के मासिक किराए में कमी आने वाली है. टेलीकॉम रेग्यूलेटर ट्राई  Telecom Regulatory Authority of India (TRAI)  ने केबल ऑपरेटर और डीटीएच प्रोवाइडरों को नया टैरिफ प्लान लागू करने को कहा है. ग्राहकों के नजरिए से इसे फायदेमंद माना जा रहा है.

मंहगाई के बीच आपका टीवी देखना होगा सस्ता, जानिए कितना हो रहा है फायदा...
प्रतीकात्मक तस्वीर....

पिछले चौबीस घंटे में रेल और हवाई यात्रा मंहगे होने की खबर और तेल-एलपीजी के दामों में बढ़ोतरी के ऐलान के बाद एक अच्छी खबर आपके लिए आई है. अब आपके केबल टीवी Cable TV और डीटीएच (DTH) Direct to Home के मासिक किराए में कमी आने वाली है. टेलीकॉम रेग्यूलेटर ट्राई  Telecom Regulatory Authority of India (TRAI)  ने केबल ऑपरेटर और डीटीएच प्रोवाइडरों को नया टैरिफ प्लान लागू करने को कहा है. ग्राहकों के नजरिए से इसे फायदेमंद माना जा रहा है.

कीमतों में आएगी कमी
ट्राई के नए टैरिफ के अनुसार अब केबल और डीटीएच ऑपरेटरों को 130 रुपए में 200 मुफ्त चैनल देने होंगे. अभी तक आपको 130 रुपए में सिर्फ 100 चैनल ही फ्री मिलते हैं. साथ ही 160 रुपये में ऑपरेटर आपको 500 फ्री टू एयर चैनल मुहैया कराएंगे. प्राधिकरण ने ये भी साफ किया है कि एक ही घर में दूसरे टीवी कनेक्शन के लिए फीस कम लेना होगा. दूसरे टीवी के लिए 52 रुपये की फीस ही वसूला जा सकेगा.

15 जनवरी तक होगा बदलाव
जानकारी के मुताबिक ब्रॉडकास्टर 15 जनवरी तक अपने चैनल की दरों में बदलाव कर सकेंगे. 30 जनवरी तक दोबारा सभी चैनल की रेट लिस्ट पब्लिश होगी. ब्रॉडकास्टर को 1 मार्च से नई दरें लागू करना होगा. ट्राई ने चैनल के लिए कैरिज फीस 4 लाख रुपये तय की है. प्राधिकरण से साफ किया है कि ब्रॉडकॉस्टर 19 रुपये वाले चैनल बुके में नहीं दे सकेंगे.

 

उल्लेखनीय है कि पिछले कई महीनों से ट्राई को केबल और डीटीएच के कीमतों को लेकर शिकायतें मिल रही थी. इसी पर गंभीरता दिखाते हुए पिछले साल अगस्त महीने में ट्राई ने ब्रॉडकास्टिंग और केबल सेवाओं के कार्ड पर टैरिफ ऑर्डर की समीक्षा का फैसला किया था. लोगों की राय लेने के लिए कंसलटेंट पेपर (परामर्श पत्र) जारी किया गया. विभिन्न घटकों और आम उपभोक्ताओं से मिले सुझावों के आधार पर नया फैसला लिया गया है.