close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

CBI के 'जाल' में फंस सकता है मेहुल चोकसी, एंटीगुआ के ठिकानों का ऐसे लगेगा पता

सीबीआई को इंटरपोल की मदद से भारतीय एजेंसियों को यह जानकारी मिली थी कि वह अमेरिका से फरार होकर एंटीगुआ द्वीप पर छिपा है.

CBI के 'जाल' में फंस सकता है मेहुल चोकसी, एंटीगुआ के ठिकानों का ऐसे लगेगा पता

नई दिल्ली: अमेरिका से एंटीगुआ फरार हुआ पीएनबी घोटाले का आरोपी मेहुल चोकसी अब सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) के जाल में फंस जाएगा. जांच एजेंसी ने अब एंटीगुआ अथॉरिटीज से मेहुल चोकसी की जानकारी मांगी है. सीबीआई ने अथॉरिटिज को लिखे लेटर में पूछा है कि मेहुल चोकसी के ठिकाने की जानकारी दी जाए. इंटरपोल की मदद से भारतीय एजेंसियों को यह जानकारी मिली थी कि वह अमेरिका से फरार होकर एंटीगुआ द्वीप पर छिपा है. इसके बाद ही भारतीय एजेंसियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. सीबीआई को उम्मीद है कि एंटीगुआ अथॉरिटीज मेहुल चोकसी से जुड़ी जानकारी उसे देगी.

लीक हो रही है जानकारी
इंटरपोल की मदद से मेहुल चोकसी के नए ठिकाने का तो पता लग गया, लेकिन जांच एजेंसियों को संदेह है कि जांच से जुड़ी जानकारियां मेहुल चोकसी को कोई लीक कर रहा है. हालांकि, इस संबंध में कोई जानकारी अभी तक नहीं मिली है कि जानकारी कहां से लीक हो रही है. क्योंकि, इंटरपोल के रेड कॉर्नर नोटिस जारी होने (9 जुलाई) से ठीक एक दिन पहले (8 जुलाई) मेहुल चोकसी अमेरिका से फरार हो गया था.

मेहुल के पास एंटीगुआ का पासपोर्ट
जांच एजेंसियों को इंटरपोल की मदद से यह भी जानकारी मिली थी कि मेहुल चोकसी के पास नया पासपोर्ट है. यह पासपोर्ट उसने एंटीगुआ से बनवाया है. इसी पासपोर्ट की मदद से मेहुल चोकसी अमेरिका से फरार हुआ था. 8 जुलाई को उसने अमेरिका से एंटीगुआ के लिए जेट ब्लू एयरवेज की फ्लाइट पकड़ी थी.

PNB SCAM: मेहुल चौकसी को मॉब लिंचिंग का डर, बोला, 'भारत लौटा तो मेरी हत्या हो जाएगी'

मेहुल को भारत में हत्या की आशंका
मेहुल चोकसी ने एक दिन पहले ही यह आशंका जताई है कि अगर वह भारत लौटता है तो वह मॉब लिंचिंग का शिकार हो सकता है. मेहुल चोकसी ने कहा कि वह भारत आता है तो भीड़ उसकी हत्या कर देगी. ऐसे माहौल में भारत आना मुमकिन नहीं है. यही नहीं, मेहुल चोकसी ने आरोप लगाया कि वह लगातार जांच में सहयोग करता रहा है. उसने कोर्ट से अपील की है कि वह भारत तभी आ सकता है जब उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट रद्द किया जाए.

'डॉन' से भी बड़ा हुआ नीरव मोदी, 11 नहीं 192 देशों की पुलिस को है तलाश

नीरव मोदी को भी ढूंढ रही है इंटरपोल
इंटरपोल ने मेहुल चोकसी की जानकारी देने के साथ ही जांच एजेंसियों को भी यह भी बताया है कि नीरव मोदी के ठिकाने का अभी तक पता नहीं लगा है. हालांकि, नीरव मोदी के खिलाफ भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो चुका है. रेड कॉर्नर नोटिस जारी होने के बाद से ही नीरव मोदी भी अमेरिका से फरार है. हालांकि, नीरव के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं लगी है. जांच एजेंसी को भरोसा है कि मेहुल चोकसी को पकड़ने से नीरव मोदी को पकड़ना भी आसान होगा.