close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीसीडी समूह पर इनकम टैक्स की छापेमारी, 650 करोड़ रुपए की बेहिसाबी संपत्ति का खुलासा

यह समूह कॉफी के अलावा पर्यटन तथा सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में कार्यरत है. अधिकारी ने कहा कि विभाग का मानना है कि अघोषित आय का आंकड़ा और ऊंचा हो सकता है.

सीसीडी समूह पर इनकम टैक्स की छापेमारी, 650 करोड़ रुपए की बेहिसाबी संपत्ति का खुलासा
आयकर विभाग के अधिकारियों सीसीडी कार्यालय समेत समूह के कई संपत्तियों पर छापे मारे थे. (फाइल फोटो)

बेंगलुरु: कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस एम कृष्णा के दामाद और कैफे कॉफी डे (सीसीडी) समूह के संस्थापक-मालिक वी जी सिद्धार्थ के परिसरों पर आयकर छापेमारी में 650 करोड़ रुपए की बेहिसाबी संपत्तियों का पता चला है. आयकर विभाग ने सोमवार (25 सितंबर) को यह जानकारी दी. यह छापेमारी विभिन्न स्थानों पर 21 सितंबर से चार दिन की गई. आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि छापेमारी में 650 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाबी आय का पता चला है. यह समूह कॉफी के अलावा पर्यटन तथा सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में कार्यरत है. अधिकारी ने कहा कि विभाग का मानना है कि अघोषित आय का आंकड़ा और ऊंचा हो सकता है.

अधिकारी ने बताया कि छापेमारी के दौरान कई और चीजें तथा उल्लंघन के मामलों का भी खुलासा हुआ है. ऐसे मामलों के बारे में प्रमाण मिले हैं जिन्हें प्रभावी तरीके से आगे बढ़ाया जाएगा. यह छापेमारी 20 से अधिक उन गंतव्यों पर की गई जहां सीसीडी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सिद्धार्थ ने निवेश किया हुआ है या हिस्सेदारी ली हुई है. कुछ महीने पहले कृष्णा कांग्रेस से नाता तोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे. उन्होंने आरोप लगाया था कि कांग्रेस में उन्हें नजरअंदाज किया जा रहा है. सीसीडी ने आयकर विभाग के दावों पर टिप्पणी से इनकार किया.

इससे पहले गुरुवार (21 सितंबर) को आयकर विभाग के अधिकारियों ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस एम कृष्णा के दामाद और कैफे कॉफी डे (सीसीडी) समूह के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक वी जी सिद्धार्थ से जुड़ी संपत्तियों पर छापे मारे थे. आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया कि अधिकारियों ने यहां सीसीडी कार्यालय समेत कई संपत्तियों पर छापे मारे थे. बेंगलुरु, मुंबई, चेन्नई और चिकमंगलुरु समेत देशभर में 20 से ज्यादा ठिकानों पर तलाशी ली गई थी.

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद कृष्णा इस साल मार्च में भाजपा में शामिल हुए थे. सिद्धार्थ भारत में कॉफी आउटलेट की श्रृंखला सीसीडी के संस्थापक-मालिक हैं और 17 जनवरी 2015 से इसके अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक रहे हैं. वह निवेशक भी हैं और उनकी माइंडट्री समेत कुछ आईटी कंपनियों में हिस्सेदारी है. वह देश में कॉफी के बीजों के सबसे बड़े निर्यातकों में से एक हैं.