ट्रेड वार से बर्बाद हो रहा चीन, ट्रंप का दावा गई 30 लाख नौकरियां

America-China Trade War : अमेरिकी और चीन के बीच पिछले कई महीनों से ट्रेड वार चल रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का दावा है कि उनके प्रशासन द्वारा चीन से आयात होने वाले सामान पर लगाए गए शुल्क के कारण चीन को खरबों डॉलर और 30 लाख नौकरियों का नुकसान हुआ है.

ट्रेड वार से बर्बाद हो रहा चीन, ट्रंप का दावा गई 30 लाख नौकरियां

वाशिंगटन : अमेरिकी और चीन के बीच पिछले कई महीनों से ट्रेड वार चल रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का दावा है कि उनके प्रशासन द्वारा चीन से आयात होने वाले सामान पर लगाए गए शुल्क के कारण चीन को खरबों डॉलर और 30 लाख नौकरियों का नुकसान हुआ है. ट्रंप ने कहा कि चीन के खिलाफ अमेरिका बहुत अच्छा कर रहा है. उन्होंने कहा कि चीन व्यापार समझौता करने के लिए लालायित है और उसकी कोशिश किसी भी तरह से समझौता करने की है.

दुनिया की इन दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच पिछले साल से ट्रेड वार चल रहा है, इसके चलते दोनों पक्षों की ओर से एक-दूसरे पर अरबों डॉलर के सामान पर जवाबी शुल्क लगाया गया. पिछले 10 महीनों से दोनों देश व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं, लेकिन इसमें अब तक कोई सफलता हाथ नहीं लग सकी है.

ट्रंप ने मीडिया से हमने खरबों डॉलर कमाए हैं और चीन ने कई खरबों डॉलर खो दिए हैं. इसके साथ ही चीन ने 30 लाख नौकरियां भी गवां दी, इसमें ऐसी कंपनियों का भी योगदान है जिन्होंने चीन छोड़ दिया और अपना निवेश दूसरी जगह ले गए. उन्होंने कहा, 'हमें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रौद्योगिकी की चोरी को रोकना होगा. जोर जबर्दस्ती कर तकनीक को हासिल करने को हमें रोकना होगा. यदि आप चीन में तकनीक चोरी के मामले को देखेंगे, तो हमारा देश काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहा है.'

ट्रंप ने मंदी की आशंकाओं को लेकर आ रही रिपोर्ट को गलत खबर बताते हुए उम्मीद जताई कि शेयर बाजार एक नई ऊंचाई को छुएगा. ट्रंप ने कहा, 'आप जानते हैं कि एक अवसर आने वाला है. मैं इसके बारे में बात नहीं करना चाहता, लेकिन बहुत कम समय में, हम एक नये रिकॉर्ड पर पहुंचेंगे.'