close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

देश की सुरक्षा को ताक पर रख इस कंपनी ने सरकार को लगाया हजारों करोड़ों का चूना

राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर-63 में फर्जी सेट टॉप बॉक्स के जरिये सरकार को सालाना करीब 5 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाने वाली एक कंपनी के चीनी डायरेक्टर और एक भारतीय कर्मचारी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

देश की सुरक्षा को ताक पर रख इस कंपनी ने सरकार को लगाया हजारों करोड़ों का चूना

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर-63 में फर्जी सेट टॉप बॉक्स के जरिये सरकार को सालाना करीब 5 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाने वाली एक कंपनी के चीनी डायरेक्टर और एक भारतीय कर्मचारी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. पुलिस ने ये कार्रवाई एक कंपनी की शिकायत पर की जिसके डाटा को चोरी कर ग्राहकों को फर्जी सेट टॉप बॉक्स के जरिये बहुत कम कीमत में सैटेलाइट टीवी चैनलों का प्रसारण दिखाया जा रहा था. आरोपियों से 70 से 80 हजार ऐसे सेट टॉप बॉक्स भी बरामद किए गए जिनसे भारतीय कानूनों का उल्लंघन कर दर्शकों को खुलेआम प्रतिबंधित पाकिस्तानी चैनल और अश्लील पॉर्न फिल्में दिखाई जाती थीं.

कंप्यूटर पार्ट्स के नाम पर मंगाते थे सेट टॉप बॉक्स
सरकारी एजेंसियों की नाक के नीचे '4 मस्कमैन इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट लिमिटेड' नाम की इस कंपनी का धंधा कितना फलफूल रहा था इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि छापे के दौरान उसके दफ्तर से नोट गिनने वाली मशीन तक बरामद हुई. आरोप है कि कंपनी कंप्यूटर पार्ट्स के नाम से चीन से चोरी छिपे सेट टॉप बॉक्स का आयात कर कस्टम ड्यूटी की चोरी करती थी. आरोप है कि देश भर में फैले अपने जाल की बदौलत ये कंपनी बिना MRP लिखे सेट टॉप बॉक्स को कम दाम पर बेच कर और पे चैनलों के डाटा को चोरी कर GST की चोरी भी करती थी.

2500 करोड़ तक की जीएसटी चोरी का आरोप
एक अनुमान के अनुसार पे चैनलों के डाटा की चोरी कर सब्सक्रिप्शन की रकम पर चुकाई जाने वाली GST के तौर पर ही सरकार को सालाना करीब 2000 से 2500 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ. वहीं फर्जी सेट टॉप बॉक्स की बिक्री से सरकार को करीब 1000 करोड़ रुपये सालाना नुकसान होने का अनुमान है. वहीं पे चैनल के सब्सक्रिप्शन फी के तौर पर सरकार को मिलने वाली सालाना करीब 1400 करोड़ रुपये की रकम भी सरकार को नहीं मिल सकी. इतनी बड़ी लूट के सामने आने के बाद GST अधिकारियों ने भी जल्दी ही इस कंपनी के खिलाफ जांच शुरू करने का दावा किया. कंपनी के इनकम टैक्स रिटर्न में भी भारी गड़बड़ी का शक जताया जा रहा है.

प्रतिबंधित पाकिस्तानी चैनलों को भी दिखाती थी कंपनी
'4 मस्कमैन इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट लिमिटेड' का ये गोरखधंधा न सिर्फ ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड यानी BIS का उल्लंघन है बल्कि देश की सुरक्षा के लिए भी बड़ा खतरा है. वो चीनी तकनीक वाले सेट टॉप बॉक्स पर एक वाईफाई डोंगल लगा कर देश की बड़ी DTH कंपनियों के डाटा की भी चोरी करती थी और इसके जरिये प्रतिबंधित पाकिस्तानी चैनलों को भी खुलेआम दिखाती थी. इसके साथ ही इन सेट टॉप बॉक्स के जरिये रात के वक्त पॉर्न फिल्में दिखाने का भी गोरखधंधा चलता था. देश भर में फैले इस पूरे गोरखधंधे का मास्टरमाइंड कौन है फिलहाल इसका पता नहीं चल पाया है. हालांकि इस मामले में हिरासत में लिए गए चीनी नागरिक और उसके भारतीय कर्मचारी से पूछताछ शुरू हो चुकी है. नोएडा पुलिस इस मामले में गहराई से छानबीन कर जरूरी कानूनी कार्रवाई की तैयारी करने में जुट गई है.