close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'कोल ब्लॉक नीलामी से मिलेंगे 1.47 लाख करोड़ रुपए, बढ़ेंगे रोजगार'

कोयला ब्लॉक नीलामी से सरकार के खजाने में 1.47 लाख करोड़ रुपए की भारी भरकम राशि पहुंचेगी और इसके साथ ही इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। वेदांता रिसोर्सेज के प्रमुख अनिल अग्रवाल ने आज यह बात कही।

'कोल ब्लॉक नीलामी से मिलेंगे 1.47 लाख करोड़ रुपए, बढ़ेंगे रोजगार'

नई दिल्ली : कोयला ब्लॉक नीलामी से सरकार के खजाने में 1.47 लाख करोड़ रुपए की भारी भरकम राशि पहुंचेगी और इसके साथ ही इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। वेदांता रिसोर्सेज के प्रमुख अनिल अग्रवाल ने आज यह बात कही।

अग्रवाल ने 19 कोयला ब्लॉकों के पहले चरण की नीलामी के बाद आज ट्वीट किया, कोयला ब्लॉकों की नीलामी से 1.47 लाख करोड़ रुपए की प्राप्ति होगी और इससे रोजगार सृजन भी होगा, खनन क्षेत्र में काफी लोगों की जरूरत पड़ती है। वेदांता समूह ने अपनी विभिन्न कंपनियों के जरिए 14 कोयला ब्लॉकों के लिए कुल 25 बोलियां लगाईं। हालांकि, समूह को पहले चरण में बाल्को के जरिये मात्र दो कोयला ब्लाक हासिल हो सके। पहले चरण की नीलामी कल संपन्न हुई।

हालांकि, कोयला सचिव अनिल स्वरूप ने कहा कि पहले चरण की नीलामी के बाद 1.09 लाख करोड़ रुपए की ई-नीलामी राशि और 30 साल में रॉयल्टी के रूप में 12,800 करोड़ रुपए राज्यों को मिलेंगे।

अग्रवाल जो प्राकृतिक संसाधनों की नीलामी की वकालत करते रहे हैं ने कहा, तेल एवं गैस, उर्वरक, धातु में नीलामी से अर्थव्यवस्था को गति दी जा सकती है। वेदांता समूह की कंपनी बाल्को को छत्तीसगढ़ में दो कोयला ब्लॉक छोटिया व गारे पाल्मा चार-एक हासिल हुए हैं। ये दोनों ब्लाक उसे क्रमश: 17 फरवरी व 21 फरवरी को मिले। छोटिया के लिए कंपनी ने 3,025 रुपए प्रति टन का भाव लगाया था। वहीं गारे पाल्मा चार-एक ब्लॉक के लिए उसने 1,585 रुपए प्रति टन का भाव बोला था।