अब दिन में नहीं दिखेंगे कंडोम के विज्ञापन, पढ़ें क्या है पूरा माजरा

एडवरटाइजिंग स्टैंडर्स काउंसिल ऑफ इंडिया (ASCI) ने हाल ही में बड़ा फैसला लिया है. इस फैसले के मुताबिक जल्द ही कंडोम के विज्ञापनों को टीवी में रात में प्रसारित किया जाएगा, अब दिन में ऐसे विज्ञापनों के प्रसारण पर रोक लग जाएगी.

अब दिन में नहीं दिखेंगे कंडोम के विज्ञापन, पढ़ें क्या है पूरा माजरा

नई दिल्ली : एडवरटाइजिंग स्टैंडर्स काउंसिल ऑफ इंडिया (ASCI) ने हाल ही में बड़ा फैसला लिया है. इस फैसले के मुताबिक जल्द ही कंडोम के विज्ञापनों को टीवी में रात में प्रसारित किया जाएगा, अब दिन में ऐसे विज्ञापनों के प्रसारण पर रोक लग जाएगी. यह फैसला बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी के कंडोम से जुड़े विज्ञापन के खिलाफ हुई शिकायत के बाद लिया गया है. बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने ASCI को इस शिकायत पर समीक्षा करने के लिए कहा था.

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले यह भी खबर आई थी कि सलमान खान ने 'बिग बॉस' में कंडोम से संबंधित विज्ञापनों को दिखाने पर आपत्ति जताई थी. सलमान ने कहा था कि उनके शो को बच्चों से लेकर बड़ों तक हर उम्र के लोग देखना पसंद करते हैं. इस कारण वह इस तरह के विज्ञापन को शो में नहीं रखना चाहते.

यह भी पढ़ें : दुनिया का पहला 'स्मार्ट कंडोम', प्रेग्नेंसी नहीं रोकेगा, लेकिन गजब हैं खूबियां

मीडिया रिपोर्ट के आधार पर अब कंडोम के विज्ञापन को रात 10 बजे के बाद और सुबह 6 बजे से पहले टीवी पर टेलीकास्ट किया जाएगा. यह कंडोम के विज्ञापन को लेकर पहली शिकायत नहीं थी बल्कि इससे पहले भी कई शिकायतें इस तरह के विज्ञापनों को लेकर की जा चुकी हैं.

इससे पहले कई युवा संगठनों ने भी इस तरह के विज्ञापनों पर रोक लगाने की मांग की थी. इन विज्ञापनों पर रोक लगाने की मांग करते हुए संगठनों की तरफ से तर्क दिया गया था कि ऐसे विज्ञापन देखने से आज की युवा पीढ़ी में भटकाव आएगा. ऐसे में इन विज्ञापनों पर रोक लगाने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें : यदि आप कंडोम का ज्‍यादा इस्‍तेमाल करते हैं, तो इन बातों का जरूर रखें ध्‍यान

काफी शिकायतों को देखते हुए ASCI ने केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय को इस बारे में बताते हुए लिखा, 'हमारा सुझाव है कि मंत्रालय सभी टेलीविजन चैनल्स को आदेश दे कि कंडोम के विज्ञापनों को रात 10 बजे और सुबह 6 बजे से पहले ही प्रसारित किया जाए.

आपको बता दें कि भारत की बढ़ती हुई जनसंख्या चिंता का विषय बनी हुई है. एक रिपोर्ट के मुताबिक अगले सात सालों में भारत जनसंख्या के मामले में चीन को भी पीछे छोड़ देगा. फिलहाल भारत की जनसंख्या 130 करोड़ से पार हो चुकी है.