close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

US-Iran टेंशन के बीच कांग्रेस का सवाल, क्या ईरान से कच्चे तेल का आयात जारी रहेगा?

भारत जितने तेल का आयात करता है उसका 80 फीसदी ओमान की खाड़ी के रास्ते से आता है.

US-Iran टेंशन के बीच कांग्रेस का सवाल, क्या ईरान से कच्चे तेल का आयात जारी रहेगा?
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, ईरान के राष्ट्रपति रुहानी और पीएम नरेंद्र मोदी.

नई दिल्ली: ईरान और अमेरिका के बीच जारी तनातनी के बीच लोकसभा में कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने पश्चिम एशिया में तनावपूर्ण स्थिति का मुद्दा उठाया. उन्होंने सरकार से पूछा कि क्या भारत पेट्रोलियम के लिए अभी भी ईरान पर निर्भर रहेगा. बता दें, ओमान की खाड़ी (Strait of Hormuz) में पिछले दिनों कच्चे तेल से भरे दो जहाज को आग के हवाले कर दिया गया था. अमेरिका ने इस घटना के पीछे ईरान का हाथ बताया. जिसके बाद दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण स्थिति बन गई है.

भारत जितने तेल का आयात करता है उसका 80 फीसदी इसी रास्ते से आता है. ऐसे में अगर इस रास्ते से जहाज आने में दिक्कत होती है तो आने वाले दिनों में पेट्रोल-डीजल और महंगा हो सकता है. ईरान पर अमेरिका ने पहले से ज्यादा कठोर प्रतिबंध लगा दिया है. अमेरिका की चेतावनी के बाद भारत ने ईरान से तेल आयात करना भी बंद कर दिया है, जबकि एक समय में यह भारत का सबसे बड़ा निर्यातक देश था.

अमेरिका-ईरान में तनातनी, मीटिंग में ट्रंप बोले- 'बताइए इन्हें कैसे सबक सिखाया जाए'

मनीष तिवारी ने सरकार से यह भी पूछा कि अमेरिकी प्रतिबंध के बावजूद क्या ईरान से तेल का आयात जारी रहेगा? अगर नहीं, तो तेल की जरूरतों को पूरा करने के लिए किन देशों से आयात किया जाएगा साथ ही भविष्य में अगर अंतर्राष्ट्रीय परिस्थितियों की वजह से कीमत में उछाल आता है तो कीमतें बढ़ने से रोकने के लिये क्या कदम उठाये जा रहे हैं?

(इनपुट भाषा से भी)