धनतेरस पर सोना खरीदने का है प्लान, तो असली गोल्ड की ऐसे करें पहचान

इंडियन ट्रेडिशन में सोना खरीदने को बहुत अहमियत दी जाती है, यह और भी खास हो जाती है दिवाली से पहले धरतेरस के मौके पर. धनतेरस के दिन सोने -चांदी की खरीदारी को भारतीय परंपरा में शुभ माना जाता है.

धनतेरस पर सोना खरीदने का है प्लान, तो असली गोल्ड की ऐसे करें पहचान

नई दिल्ली: इंडियन ट्रेडिशन में सोना (Gold Shopping) खरीदने को बहुत अहमियत दी जाती है, यह और भी खास हो जाती है दिवाली से पहले धरतेरस के मौके पर. धनतेरस के दिन सोने -चांदी (Gold Shopping) की खरीदारी को भारतीय परंपरा में शुभ माना जाता है. इसीलिए हर साल धनतेरस और दिवाली के मौके पर सोने की खरीदारी में तेजी आ जाती है. लेकिन कई बार बाजार में डिमांड बढ़ने पर सोने में गड़बड़ी की शिकायत भी मिलती हैं. ऐसे में जरूरी है कि खरीदारी करते समय आप कुछ बातों की जानकारी जरूर होनी चाहिए. आपको मालूम होना चाहिए कि अलग-अलग शुद्धता वाले सोने की कीमत अलग-अलग होती है. इस लेख के जरिये आगे पढ़िए आप किस तरह असली और नकली सोने की पहचान करें.

हॉलमार्क
सोना खरीदने की पहली सावधानी यह है कि बीआईएस हॉलमार्क देखकर सोना खरीदना चाहिए. हॉलमार्क से असली सोने को पहचानना सबसे आसान है. असली हॉलमार्क पर भारतीय मानक ब्यूरो का तिकोना निशान होता है और उस पर हॉलमार्किंग सेंटर के लोगो के साथ सोने की शुद्धता भी लिखी होती है.

 

एसिड टेस्ट
अगर आप असली सोने के बारे में पता लगाना चाहते हैं तो आप एसिड टेस्ट से आसानी से पता लगा सकते हैं. इसके लिए आप पिन से सोने पर हल्का सा खरोच लगाएं . फिर उस खरोच पर नाइट्रिक एसिड की एक बूंद डाले. नकली सोना तुरंत हरा हो जाएगा, जबकि असली सोने पर कोई भी प्रभाव नहीं पड़ेगा.

चुंबक से जांच
असली सोने की पहचान करने के लिए आप मैग्नेट टेस्ट भी कर सकते हैं. गौर हो कि सोना चुंबक पर चिपकता नहीं है. असली सोने की जांच के लिए एक चुंबक लें और उससे सोने को चिपकाएं. अगर सोना थोड़ा सा भी चुंबक की ओर आकर्षित होता है या चिपकता है तो मतलब सोने में कोई न कोई गड़बड़ी है. इसलिए चुंबक से जांच-परख कर सोना खरीदें.

वाटर टेस्ट
वाटर टेस्ट से भी सोने की पहचान की जा सकती है. वाटर टेस्ट के लिए एक कप पानी लें और उसमें सोने को डुबाएं. अगर सोना पानी के कप में डूब जाता है तो वह असली है, अगर वो धारा के साथ तैरता है तो वो असली नहीं है. आपको यह जानकारी होनी चाहिए कि सोना कभी तैरता नहीं बल्कि डूब जाता है. सोना कभी तैरता नहीं बल्कि डूब जाता है. यह भी बता दें कि सोने में कभी भी जंग नहीं लगता.

समझें कैरेट का फंडा
सोने की कीमत कैरेट के हिसाब से तय होती है. जितना ज्यादा कैरेट होगा सोना उतना ही महंगा होगा. हम सोना 24 कैरेट और ज्वैलरी 22 की कैरेट खरीदते हैं, जिसकी कीमत कम होती है. अगर आपको 22 कैरेट सोने की कीमत पता करनी है तो 24 कैरेट सोने के भाव में 24 का भाग दें और 22 से गुणा करें इससे आपको 22 कैरेट सोने की कीमत पता चल जाएगी. 24 कैरेट सोना में 99.9 फीसदी शुद्ध सोना होता है. लेकिन 24 कैरेट से ज्वेलरी नहीं बनाई जाती क्योंकि यह बेहद मुलायम होता है.