Breaking News
  • अकाली दल ने NDA से गठबंधन तोड़ा, पार्टी की कोर कमेटी में फैसला
  • पार्टी की नेता हरसिमरत कौर मोदी कैबिनेट से दे चुकी हैं इस्‍तीफा
  • कृषि बिल से नाराज है अकाली दल
  • IPL 2020: SRH vs KKR Live Score Update, केकेआर ने हैदराबाद को 7 विकेट से रौंदा

एयरबस खरीद मामले में पी चिदंबरम को ED का नोटिस, 23 को पेशी का आदेश

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को एयरबस खरीद मामले में पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है. ईडी ने पूर्व वित्त मंत्री को 23 अगस्त को पेश होने का आदेश दिया है.

एयरबस खरीद मामले में पी चिदंबरम को ED का नोटिस, 23 को पेशी का आदेश

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को एयरबस खरीद मामले में पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है. ईडी ने पूर्व वित्त मंत्री को 23 अगस्त को पेश होने का आदेश दिया है. इस मामले में पहले पूर्व उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल से भी पूछताछ हो चुकी है. मामला 70,000 करोड़ रुपये में 111 बोइंग और एयरबस खरीदने से जुड़ा है.

ये नोटिस पूर्व उड्ययन मंत्री प्रफुल्ल पटेल से पूछताछ के बाद दिया गया है. आरोप है कि प्रफुल्ल पटेल जब उड्डयन मंत्री थे तो, उन्होंने 111 विमान खरीदने का आर्डर दिया था. जिसमें 43 एयरबस कंपनी के विमान थे. 2006 में 111 विमान खरीदने की ये डील करीब 70,000 करोड़ रुपये में हुई थी. प्रफुल्ल पटेल से जब ईडी ने पूछताछ की थी तो, उन्होंने बताया था कि विमान की खरीद का फैसला जीओएम की बैठक में लिया गया था और उस बैठक की अध्यक्षता पी चिंदबरम कर रहे थे. इस अप्रूवल के बाद ही विमान खरीदने का फैसला लिया गया था.

आरोप है कि जब एयरबस से विमान खरीदने का फैसला लिया गया, उस दौरान जीओएम में शर्त रखी गई थी कि एयरबस 175 मिलियन यूएस डॉलर में एमआरओ सेंटर (Maintenance, Repair and Overhaul Center) लगायेगा. लेकिन, जब एयरबस के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन हुआ तो ये शर्त नहीं थी. इससे करीब 1000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था. इस मामले में ईडी और सीबीआई द्वारा सिविल एविएशन और इंडियन एयरलाइन्स के अधिकारियों से पूछताछ हो चुकी है.

आरोप ये भी है कि इस डील में प्रफुल्ल पटेल के करीबी दीपक तलवार का अहम रोल था और इस डील के बाद एयरबस ने दीपक तलवार के साथ एक कंपनी खोली और उसमें 10.5 मिलियन डॉलर दीपक तलवार के लिये खाते में डाले गये. पैसे दो बार में 4.5 मिलियन और 6 मिलियन डाले गये. ईडी ने इस मामले में आरोपी दीपक तलवार को दुबई से डिपोर्ट कर गिरफ्तार किया था और फिलहाल इस समय वो दिल्ली की तिहाड़ जेल में है.