'भारत जैसे उभरते बाजारों के बल पर स्मार्टफोन की बिक्री 19% बढ़ी'

भारत जैसे उभरते बाजारों के बल पर वैश्विक स्तर पर स्मार्टफोन की बिक्री मार्च तिमाही में 19.3 प्रतिशत बढ़कर 33.6 करोड़ इकाई पर पहुंच गई। अनुसंधान फर्म गार्टनर ने आज यह जानकारी दी।

'भारत जैसे उभरते बाजारों के बल पर स्मार्टफोन की बिक्री 19% बढ़ी'

नई दिल्ली : भारत जैसे उभरते बाजारों के बल पर वैश्विक स्तर पर स्मार्टफोन की बिक्री मार्च तिमाही में 19.3 प्रतिशत बढ़कर 33.6 करोड़ इकाई पर पहुंच गई। अनुसंधान फर्म गार्टनर ने आज यह जानकारी दी।

वर्ष 2014 की पहली तिमाही में वैश्विक स्तर पर स्मार्टफोन की बिक्री 28.16 करोड़ इकाई रही थी। गार्टनर ने बयान में कहा, इस वृद्धि में उभरते बाजारों (चीन को छोड़कर) का उल्लेखनीय योगदान रहा। स्मार्टफोन बिक्री के मामले में तेजी से बढ़ते बाजारों में उभरता एशिया प्रशांत क्षेत्र, पूर्वी योजना, पश्चिम एशिया व उत्तरी अमेरिका हैं। इन क्षेत्रों के शानदार प्रदर्शन के बल पर समीक्षाधीन तिमाही में उभरते बाजारों में स्मार्टफोन की बिक्री में 40 प्रतिशत का इजाफा हुआ।

मोबाइल हैंडसेटों की कुल बिक्री (स्मार्टफोन व फीचर फोन) की बात की जाए, तो समीक्षाधीन तिमाही में इनकी बिक्री 2.5 प्रतिशत बढ़कर 46.02 करोड़ इकाई रही, जो 2014 की इसी अवधि में 44.89 करोड़ इकाई रही थी।

सैमसंग 21.3 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ शीर्ष पर रही। इस दौरान एप्पल 13.1 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ दूसरे स्थान पर रही। इनके बाद माइक्रोसॉफ्ट (7.2 प्रतिशत), एलजी इलेक्ट्रानिक्स (4.3 प्रतिशत) और लेनोवो (4.2 प्रतिशत) का नंबर आता है। गार्टनर रिसर्च के निदेशक अंशुल गुप्ता ने कहा कि समीक्षाधीन तिमाही में उभरते बाजारों के स्मार्टफोन खंड स्थानीय ब्रांड व चीनी वेंडरों का दबदबा रहा।
 
गुप्ता ने कहा कि इन वेंडरों ने 2015 की पहली तिमाही में स्मार्टफोन की बिक्री में औसतन 73 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। इस दौरान उनकी सामूहिक हिस्सेदारी 38 प्रतिशत से बढ़कर 47 प्रतिशत हो गई। स्मार्टफोन खंड में सैमसंग की पहली तिमाही में हिस्सेदारी और बिक्री घटकर क्रमश: 24.2 प्रतिशत या 8.11 करोड़ इकाई रह गई। एक साल पहले समान अवधि में सैमसंग की हिस्सेदारी और बिक्री क्रमश: 30.4 प्रतिशत व 8.55 करोड़ इकाई रही थी।

गुप्ता ने कहा कि तिमाही के दौरान विशेषरूप से एप्पल का प्रदर्शन काफी मजबूत रहा। आईफोन की बिक्री पहली तिमाही में 72.5 प्रतिशत बढ़कर 6.01 करोड़ इकाई पर पहुंच गई। एशियाई बाजार में विस्तान से एप्पल को वैश्विक स्तर पर सैमसंग के साथ अंतर को कम करने में मदद मिली है। स्मार्टफोन खंड में लेनोवो की हिस्सेदारी 5.6 प्रतिशत, हुवावेई की 5.4 प्रतिशत व एलजी इलेक्ट्रानिक्स की 4.6 प्रतिशत रही।