close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जल्दी ही भूल जाएंगे 4G, शुरू हो चुकी है 5G तकनीक की तैयारी

भारतीय दूरसंचार बाजार में 2G और 3G के बाद अब 4G की धूम है. तमाम कंपनियां अपने ग्राहकों को इंटरनेट और वॉइस की बेहतरीन सुविधा उपलब्‍ध कराने के लिए 4G को प्रमोट करने में लगी हैं. 

जल्दी ही भूल जाएंगे 4G, शुरू हो चुकी है 5G तकनीक की तैयारी
5G तकनीक के लिए एरिक्सन और आईआईटी दिल्ली में हुआ करार (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली : भारतीय दूरसंचार बाजार में 2G और 3G के बाद अब 4G की धूम है. तमाम कंपनियां अपने ग्राहकों को इंटरनेट और वॉइस की बेहतरीन सुविधा उपलब्‍ध कराने के लिए 4G को प्रमोट करने में लगी हैं. 

मुकेश अंबानी के स्‍वामित्‍व वाली रिलायंस जियो मोबाइल ग्राहकों को भरपूर लाभ दे रही है. ऐसे में यह खबर उपभोक्‍ताओं को और रोमांचित कर सकती है. अब भारत में मोबाइल फोन कनेक्टिविटी को अगले स्‍तर पर ले जाने की तैयारी शुरू हो गई है. जी हां! यहां बात हो रही है 5जी कनेक्टिविटी और डेटा की.

दूरसंचार उपकरण बनाने वाली कंपनी एरिक्सन भारत में 5जी तकनीक के विकास के लिए आईआईटी दिल्ली के साथ समझौता किया है. कंपनी ने एक बयान में कहा, ‘एरिक्सन और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-दिल्ली (आईआईटी दिल्ली) ने 'भारत के लिए 5जी’ कार्यक्रम पर साथ-साथ काम करने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं.

इस एमओयू के तहत एरिक्सन 5जी के परीक्षण की सुविधा वाला एक उत्कृष्टता केंद्र स्थापित करेगी साथ ही आईआईटी-दिल्ली में एक उद्यम विकास (इंक्यूबेशन) केंद्र की भी स्थापना करेगी. इनका उपयोग देश में 5जी के लिए वातावरण निर्माण में करेगी. इसके तहत परीक्षणों की पहली श्रृंखला 2017 की दूसरी छमाही में शुरू होगी. सूत्र बताते हैं कि 2020 तक 5जी के वाणिज्यिक तौर पर उपलब्ध होने की उम्मीद है.