Breaking News
  • उत्तराखंड को पीएम नरेंद्र मोदी का तोहफा, 6 बड़े प्रोजेक्ट का उद्घाटन
  • IPL 2020: SRH vs DC Live Score Update: सनराइजर्स ने दिल्ली को 15 रनों से दी मात

यूरोपीय-अमेरिकी शेयर बाजारों में भी गिरावट

दुनियाभर में चीन की अर्थव्यवस्था को लेकर निवेशकों की चिंता के बीच सोमवार को यूरोपीय और अमेरिकी शेयर बाजार नीचे आ गए। ऐसे में आशंका बनी है कि भारतीय शेयर बाजार में कल भी ‘हाहाकार’ जैसी स्थिति रह सकती है।

लंदन: दुनियाभर में चीन की अर्थव्यवस्था को लेकर निवेशकों की चिंता के बीच सोमवार को यूरोपीय और अमेरिकी शेयर बाजार नीचे आ गए। ऐसे में आशंका बनी है कि भारतीय शेयर बाजार में कल भी ‘हाहाकार’ जैसी स्थिति रह सकती है।

चीन की अगुवाई में एशियाई बाजारों में गिरावट के असर से लंदन से लेकर पेरिस और न्यू यॉर्क सभी जगह बाजार धराशायी हो गए। दोपहर के कारोबार में प्रमुख यूरोपीय बाजार आठ फीसदी तक नीचे चल रहे थे। अमेरिकी शेयरों की भी कमजोर शुरुआत हुई। बेंचमार्क 30 शेयरों वाला डाउ इंडेक्स तीन फीसदी से अधिक टूट गया था। बंबई शेयर बाजार के सेंसेक्स में सोमवार को एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट आई और यह 1,624.51 अंक टूटकर 25,741.56 अंक पर आ गया।

इस बीच, बेंचमार्क यूरोपीय सूचकांक फ्रांस का सीएसी-40 सात फीसदी टूटकर 4,305.95 अंक पर और लंदन का एफटीएसई-100 करीब पांच फीसदी टूटकर 5,906.43 अंक पर आ गया। अमेरिका में डाउ इंडेक्स शुरुआत में काफी तेजी से नीचे आया लेकिन बाद में संभल गया। शुरुआती कारोबार में यह 310 अंक से अधिक के नुकसान से 16,147.61 अंक पर चल रहा था। एसएंडपी 500 दो प्रतिशत से अधिक टूटकर 1,927.11 अंक पर और नास्डैक करीब तीन प्रतिशत टूटकर 4,594.17 अंक पर आ गया।

शांगहाए का बाजार 8.49 फीसदी के नुकसान से 3,209.91 अंक पर आ गया। जापान का निक्की 225 करीब पांच फीसदी के नुकसान से 18,540.68 अंक पर और हांगकांग का हैंगसेंट पांच फीसदी से अधिक टूटकर 21,251.57 अंक पर आ गया। यूरोपीय और अमेरिकी बाजारों में जोरदार गिरावट के मद्देनजर ऐसी आशंका है कि मंगलवार को भी भारतीय बाजारों में उतार-चढ़ाव रहेगा। इस बीच कराची से मिली खबर के अनुसार कराची स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक 1,419 अंक यानि 4.11 फीसदी टूट गया।