close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नई सरकार से उम्मीदें शायद अवास्तविक थीं: रघुराम राजन

नई सरकार से पिछले साल सत्ता में आने के समय उम्मीदें ‘शायद अवास्तविक’ थीं लेकिन इसने निवेश का माहौल तैयार करने की पहल की और वह निवेशकों की चिंता के प्रति संवेदनशील है। यह बात आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन ने कही।

नई सरकार से उम्मीदें शायद अवास्तविक थीं: रघुराम राजन

न्यूयार्क : नई सरकार से पिछले साल सत्ता में आने के समय उम्मीदें ‘शायद अवास्तविक’ थीं लेकिन इसने निवेश का माहौल तैयार करने की पहल की और वह निवेशकों की चिंता के प्रति संवेदनशील है। यह बात आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन ने कही।

राजन ने मंगलवार को न्यूयार्क के इकोनॉमिक क्लब को संबोधित करने के बाद पूछ गए प्रश्नों के जवाब में कहा कि यह सरकार बेपनाह उम्मीदों के साथ आई और मुझे लगता है कि जिस तरह की उम्मीदें थीं वह किसी भी सरकार के लिए शायद अवास्तविक थीं। उन्होंने कहा कि लोगों के दिमाग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ऐसी छवि थी जैसे ‘रोनाल्ड रेगन सफेद घोड़े पर सवार होकर’ बाजार विरोधी ताकतों को मिटाने आ रहे हैं और ऐसी तुलना ‘शायद उचित नहीं’ है।

राजन ने, हालांकि, कहा कि सरकार ने निवेश का माहौल तैयार करने के लिए पहल की हैं जिसे मैं महत्वपूर्ण समझता हूं। उन्होंने कहा कि सरकार निवेशकों की चिंता के प्रति संवेदनशील है और आर्थिक मुद्दों से निपटने पर विचार कर रही है। राजन की टिप्पणी इस महीने मोदी नीत सरकार के एक साल पूरे होने के मद्देनजर आई है। सरकार प्रचंड बहुमत के साथ से आई क्‍योंकि जनता रोजगार, आर्थिक विकास चाहती थी और साथ बढ़ती महंगाई एवं भ्रष्टाचार से निजात पाना चाहती थी।