close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Repo rate कट से फेस्टिवल सीजन में बढ़ेगी रियल एस्टेट सेक्टर की मांग

एनॉरॉक प्रॉपर्टी के चेयरमैन अनुज पुरी का कहना है कि रियल एस्टेट सेक्टर में मिड-सेगमेंट की मांग को बढ़ाने के लिए 0.35% की कटौती काफी कम है. हालांकि, इसका सबसे ज्यादा फायदा अफोर्डेबल हाउसिंग को मिलेगा.

Repo rate कट से फेस्टिवल सीजन में बढ़ेगी रियल एस्टेट सेक्टर की मांग
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: त्योहारी सीजन से पहले RBI ने घर खरीदारों को तोहफा दिया है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने आज रेपो रेट में 0.35% की कटौती की. रेपो रेट अब 5.40% पर है. वहीं रिवर्स रेपो रेट में 0.35% की कमी की. रिवर्स रेपो रेट 5.15% है. यानी अब आपके घर की EMI सस्ती हो जाएगी. फेस्टिवल सीजन में घरों की बिक्री को बढ़ाने के लिए RBI ने काफी अहम कदम उठाया है. 

कितनी कम होगी EMI
अगर आप 20 लाख का होम लोन 20 साल की अवधि के लिए 9.55% ब्याज की दर से लेते हैं तो पहले आपको 18,708 की EMI देनी पड़ती थी जो कि अब 9.20% के हिसाब से कम होकर 18,253 रह गई है. वहीं 30 लाख के होम लोन पर पहले 28,062 की EMI देनी पड़ती थी जो अब घटकर 27,379 रह गई है. 50 लाख के होम लोन पर 46,770 की EMI थी जोकि कम होकर 45,631 रह गई. वहीं बात करें 80 लाख के लोन की तो पहले EMI 74,832 थी, अब घटकर 73,010 है. 1 करोड़ के लोन पर पहले EMI 93,540 थी, अब घटकर 91,263 रह गई.

रेपो रेट कट के अलावा RBI ने किये ये बड़े ऐलान, 24 घंटे कर पाएंगे NEFT

इस साल 4 बार घटीं दरें
RBI ने इस साल 4 बार दरों में कटौती की है. अगस्त में 0.35 फीसदी घटाकर रेपो रेट 5.75% से 5.40% फीसदी किया गया. जून में 0.25% (6%) से घटकर 5.75%. अप्रैल में 0.25% (6.25%) से घटकर 6% और फरवरी में 0.25% (6.5%) से घटकर 6.25% फीसदी किया गया.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स?
एनॉरॉक प्रॉपर्टी के चेयरमैन अनुज पुरी का कहना है कि रियल एस्टेट सेक्टर में मिड-सेगमेंट की मांग को बढ़ाने के लिए 0.35% की कटौती काफी कम है. हालांकि, इसका सबसे ज्यादा फ़ायदा अफोर्डेबल हाउसिंग को मिलेगा. दूसरे बेनिफिट मिलने की वजह से अफोर्डेबल हाउसिंग की मांग बढ़ रही है और आने वाले समय में सकारात्मक रुख देखने को मिलेगा. टियर-2 और टियर-3 शहरों में कीमतें कम हैं और डिमांड में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है. 

बिल्डर्स ने किया वेलकेम
गौड़ सन्स के चेयरमैन मनोज गौड़ का कहना है कि RBI के इस कदम से हाउसिंग सेक्टर में डिमांड में हल्की बढ़ोतरी देखने को मिलेगी. इस कदम से बैंकिंग सिस्टम की ग्रोथ भी बढ़ोगी जिसका सीधा फ़ायदा रियल एस्टेट सेक्टर को भी मिलेगा. अफोर्डेबल हाउसिंग सेक्टर के लिए ये कदम काफी अच्छा है. 

SBI ने इंटरेस्ट रेट घटाया, 0.15% सस्ता हुआ होम लोन

महागुण ग्रुप के धीरज जैन के मुताबिक, ये होम बायर्स के लिए घर खरीदने का बिल्कुल सही समय है, क्योंकि फिलहाल ब्याज दरें काफी कम हैं. रेपो रेट में कटौती होने के बाद अब सब की नजरे बैंकों पर टिकी हुई हैं कि बैंक इसका कितना फायदा होम बायर्स को पहुंचाते हैं. RBI के इस कदम से रियल एस्टेट सेक्टर को काफी फायदा मिलेगा.   

CREDAI वेस्टर्न यूपी के प्रेसीडेंट इलेक्ट अमित मोदी का कहना है कि बेशक रेपो रेट में कटौती की गई है लेकिन देखा गया है कि कई बार कटौती होने के बावजूद ज्यादातर बैंक इसका फायदा घर खरीदारों तक नहीं पहुंचाते. हम उम्मीद कर रहे हैं कि बैंक इसका फायदा ग्राहकों तक पहुंचाए ताकि रियल एस्टेट सेक्टर में इसका असर देखने को मिले. 

RBI ने की रेपो रेट में 35 प्वाइंट्स की कटौती, जल्द सस्ते होंगे लोन और EMI

सुषमा ग्रुप के एक्सक्यूटिव डायरेक्टर प्रतीक मित्तल मानते हैं कि, रेपो रेट घटने से देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ने में मदद मिलेगी. बैंकिंग प्रणाली में लिक्विडिटी को कम करने के साथ-साथ इस कदम से बैंकों के संसाधनों पर भी कम बोझ पड़ेगा, जो रियल एस्टेट सेक्टर के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा. इस कदम से डेवेलपर्स को भी लिक्विडिटी पुश मिल सकेगा. RBI की इस कटौती का डेवलपर्स और एक्सपर्टस ने स्वागत किया है. अब देखना अहम होगा कि इस कटौती का कितना असर त्यौहारी सीजन में देखने को मिलेगा और डिमांड में कितनी बढ़ोतरी देखने को मिलेगी.