close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

FICCI की सिफारिश बजट में कॉरपोरेट टैक्स घटाए सरकार, इनकम टैक्स की दरें भी कम करने पर जोर

FICCI ने सुझाव दिया है कि व्यक्तिगत टैक्स की 30 फीसदी वाली सबसे ऊंची दर सालाना 20 लाख रुपए से ऊपर की आमदनी वालों पर ही लागू होनी चाहिए.

FICCI की सिफारिश बजट में कॉरपोरेट टैक्स घटाए सरकार, इनकम टैक्स की दरें भी कम करने पर जोर
फाइल फोटो.

नई दिल्ली. देश के प्रमुख उद्योग मंडल फिक्की (FICCI) ने सरकार से सिफारिश की है आगामी बजट में छोटी-बड़ी हर प्रकार की कंपनियों पर कॉरपोरेट टैक्स की दर घटाकर 25 परसेंट की जाए. फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री का कहना है कि इससे कारोबार का विस्तार होगा और टैक्स कलेक्शन भी बढ़ेगा. फिक्की ने ये सुझाव भी दिया है कि व्यक्तिगत आयकर की 30 फीसदी वाली सबसे ऊंची दर सालाना 20 लाख रुपए से ऊपर की आमदनी वालों पर ही लागू होनी चाहिए. आपको बता दें कि 30 परसेंट की ये दर फिलहाल 10 लाख सालाना कमाने वालों पर लागू होती है. 

कारोबार का होगा विस्तार
FICCI ने कहा है कि भारत में कारोबार करने वाली कंपनियों के लिए टैक्स दरें ऊंची हैं. टैक्स ज्यादा होने से प्रोडक्शन की लागत भी बढ़ जाती है. इससे कंपनियों की बचत और कम हो जाती है. परिणाम यह होता है कि उनके पास कारोबार में निवेश और विस्तार के लिए कम धन बचता है. फिक्की का मानना है कि 30 परसेंट कॉरपोरेट टैक्स और लाभांश वितरण पर 20 फीसदी टैक्स के कारण कंपनियों पर टैक्स को बोझ ज्यादा हो जाता है. 

टैक्स में कमी पर हो विचार
फिक्की ने वित्त मंत्रालय को अपनी बजट पर दी गई सिफारिश में कहा है कि विश्व के कई प्रमुख औद्योगिक देशों ने अपने यहां टैक्स की दरों में काफी कमी की है. भारत में भी कंपनियों पर टैक्स के बोझ में कमी करने पर विचार किया जाना चाहिए.

3 लाख तक मिले छूट
FICCI ने सिफारिश की है कि व्यक्तिगत टैक्सपेयर्स को टैक्स की छूट 2.5 लाख से बढ़ाकर 3 लाख रुपए होनी चाहिए. फिक्की का मानना है कि इससे लोगों को व्यक्ति बचत करने में सहायता मिलेगी.