पद के लिए नहीं, टाटा ग्रुप की आत्मा के बचाव के लिए यह लड़ाई: मिस्त्री

टाटा समूह की दुधारू गाय टीसीएस के निदेशक मंडल से साइरस मिस्त्री को हटाने की तैयारी है। वहीं मिस्त्री ने आज कहा कि उनकी लड़ाई पद के लिए नहीं है, बल्कि वह देश के सबसे बड़े समूह की आत्मा को बचाने के लिए लड़ रहे हैं।

पद के लिए नहीं, टाटा ग्रुप की आत्मा के बचाव के लिए यह लड़ाई: मिस्त्री

मुंबई: टाटा समूह की दुधारू गाय टीसीएस के निदेशक मंडल से साइरस मिस्त्री को हटाने की तैयारी है। वहीं मिस्त्री ने आज कहा कि उनकी लड़ाई पद के लिए नहीं है, बल्कि वह देश के सबसे बड़े समूह की आत्मा को बचाने के लिए लड़ रहे हैं।

मिस्त्री को कल टाटा इंडस्ट्रीज के बोर्ड से निदेशक के रूप में हटा दिया गया। उन्होंने टीसीएस के शेयरधारकों को लिखे पत्र में कहा कि पिछले कुछ सप्ताह के दौरान कामकाज के बेहतर संचालन को हवा में फेंक दिया गया और इसका स्थान मनमाने रवैये, अपनी पसंद और व्यक्तिगत एजेंडा ने ले लिया।

उन्होंने कहा, ‘हमने नैतिकता के सिद्धान्तों को गिरते देखे। कुछ लोगों के रवैये से संस्थान की बुनियाद को जोखिम में डाला गया।’ असाधारण आम बैठक में कंपनी सचिव ने मिस्त्री के बयान को पढ़ा।