close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टिकट के पैसे रिफंड नहीं करने पर Make My Trip पर लगा फाइन, देने होंगे 87,289 रु.

कंपनी की तरफ से अपना पक्ष रखने के लिए कोई भी पेश नहीं हुआ जिसकी वजह से कंपनी को एक्स पार्टी घोषित करते हुए फोेरम ने यह फैसला सुनाया.

टिकट के पैसे रिफंड नहीं करने पर Make My Trip पर लगा फाइन, देने होंगे 87,289 रु.

चंडीगढ़: कंज्यूमर फोरम (Consumer Forum) ने दो अलग-अलग मामलों में मेक माई ट्रिप (Make My Trip) पर हर्जाना लगाया है. चंडीगढ़ (Chandigarh) में कंज्यूमर फोरम ने कंपनी द्वारा शिकायतकर्ता को 87,289 रुपये रुपये देने के लिए कहा है. दोनों मामलों में फोरम ने कंपनी द्वारा शिकायतकर्ता पेशे से वकील कृष्ण सिंगला से टिकट के बचे हुए 54,109, और 13,180 रुपये रिफंड (Ticket Refund) करने के साथ पांच-पांच हजार रुपये केस खर्च देने का आदेश दिया है. इसके साथ ही शिकायतकर्ता को इस दौरान हुई मानसिक परेशानी के लिए भी दस हजार रुपये देने का आदेश दिया है.

वहीं बता दें कि कंपनी की तरफ से अपना पक्ष रखने के लिए कोई भी पेश नहीं हुआ जिसकी वजह से कंपनी को एक्स पार्टी घोषित करते हुए फोेरम ने यह फैसला सुनाया.

पहला मामला
14 मई, 2019 का है. फोरम को दी अपनी शिकायत में बताया कि मुबंई में उनकी पत्नी का होम्योपैथिक ट्रीटमेंट चल रहा है, जिसके लिए वह तीन-चार महीने बाद पत्नी को लेकर मुंबई जाते है. उन्होंने डॉक्टर से 14 मई, 2019 की अपॉयमेंट ली. कंपनी की एप्प से ही आने-जाने के लिए टिकट बुक की. जिसके लिए क्रेडिट कार्ड से 25,769 रुपये का भुगतान भी कर दिया. लेकिन कंपनी ने मुंबई से चंडीगढ़ वापस आने वाली टिकट को कैंसिल कर दिया. कृष्ण सिंगला ने पैसे रिफंड करने लिए कंपनी से अपील की. कंपनी ने 13,180 रुपये रिफंड करने की बात कही. लेकिन जब कंपनी ने तय की गई तारीख तक भी पैसे रिफंड नहीं किए तो कंपनी के खिलाफ कंज्यूमर फोरम में शिकायत दी.

यह भी पढ़ेंः अगर आप घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो टिकट लेने से पहले इसे जरूर पढ़ें

दूसरा मामला
दो नवंबर, 2018 का है जब कृष्ण सिंगला ने परिवार सहित छुट्टियां मनाने के लिए सिडनी (ऑस्ट्रेलिया) जाने का प्लान बनाया. इसके लिए कंपनी की एप्प से रिफंडेबल टिकट बुक की. जिसका मतलब यह था कि अगर अम्बेसी वीजा ग्रांट नहीं करता तो पूरे पैसे वापस मिलेंगे. शिकायतकर्ता ने टिकट बुक करते हुए ऑनलाइन ही 1,55,004 रुपये का भुगतान कर दिया. लेकिन इसके बाद शिकायतकर्ता को टूरिस्ट वीजा नहीं मिला, जिसके बाद उक्त कंपनी से पैसे रिफंड करने के लिए संपर्क किया गया. कंपनी ने शिकायतकर्ता को 1,00,895 रुपये ही वापस किए. बाकि बचे 54,109 रुपये बिना कोई वजह बताए काट लिए. परेशान होकर कृष्ण सिंगला ने कंज्यूमर फोरम का दरवाजा खटखटाया.