close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फ्लिपकार्ट, स्नैपडील के आला अधिकारियों में सोशल मीडिया पर तकरार

चीन की प्रमुख ईकामर्स कंपनी अलीबाबा भारतीय बाजार में उतरने की योजना बना रही है और इसको लेकर भारत की दो शीर्ष आनलाइन खुदरा कंपनियों- फ्लिपकार्ट तथा स्नैपडील- में शनिवार को सोशल मीडिया पर सार्वजनिक रूप से तकरार हो गई।

फ्लिपकार्ट, स्नैपडील के आला अधिकारियों में सोशल मीडिया पर तकरार

नई दिल्ली : चीन की प्रमुख ईकामर्स कंपनी अलीबाबा भारतीय बाजार में उतरने की योजना बना रही है और इसको लेकर भारत की दो शीर्ष आनलाइन खुदरा कंपनियों- फ्लिपकार्ट तथा स्नैपडील- में शनिवार को सोशल मीडिया पर सार्वजनिक रूप से तकरार हो गई।

अलीबाबा ने भारतीय इकामर्स कंपनी पेटीएम व स्नैपडील में निवेश किया है। कंपनी ने हाल ही में था कि उसकी भारतीय बाजार में पूर्ण रूप से आने की योजना है।

इस घटनाक्रम के मद्देनजर फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक सचिन बंसल ने ट्वीटर पर लिखा, ‘अलीबाबा ने अब सीधे तौर पर अपना परिचालन शुरू करने का फैसला किया है जो बताता है कि भारत में उनके निवेश का अब तक का प्रदर्शन कितना खराब रहा है।’ स्नैपडील के कुणाल बहल ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया जताई और अपनी बात रखने के लिए ट्वीटर का ही सहारा लिया। उन्होंने लिखा, ‘क्या मोर्गन स्टेनली ने फ्लिपकार्ट में पांच अरब डॉलर के बराबर की बाजार हैसियत हाल में गटर में (टायलेट सीट का प्रतीक) नहीं बहा दी। अपने कारोबार पर ध्यान दा, टीका टिप्पणी छोड़ो (मुस्कान का प्रतीक)।’

उल्लेखनीय है कि अलीबाबा चाइना की वन97 कम्युनिकेशंस में लगभग 40 प्रतिशत हिस्सेदारी है जो कि पेटीएम का संचालन करती है।

फरवरी में मोर्गन स्टेनली के अधीनस्थ एक म्यूचुअल फंड ने अपने निवेश के मूल्यांकन में फ्लिपकार्ट के शेयरों का मूल्यांकन 27 प्रतिशत दिया था। इस फर्म ने शेयर बाजारों को सूचित किया कि उसने फ्लिपकार्ट में अपनी हिस्सेदारी की कीमत दिसंबर 2015 में 5.893 करोड़ डॉलर आंकी जो जून 2015 में 8.062 करोड़ डॉलर थी।