विदेशी निवेशकों ने भारत में अगस्त के दौरान किया इतने हजार करोड़ रुपये का निवेश

वृहद आर्थिक मोर्चे पर सुधार, कंपनियों के बेहतर तिमाही नतीजे और मिड-कैप और स्मॉल कैप में सुधार का नतीजा

विदेशी निवेशकों ने भारत में अगस्त के दौरान किया इतने हजार करोड़ रुपये का निवेश
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: विदेशी निवेशकों ने भारतीय पूंजी बाजारों में इस महीने अब तक 6,700 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया. वृहद आर्थिक मोर्चे पर सुधार, कंपनियों के बेहतर तिमाही नतीजे और मझोली कंपनियों तथा छोटी कंपनियों के शेयरों (मिड-कैप और स्मॉल कैप) में सुधार इसकी वजह रही.

पिछले महीने निवेशकों ने भारतीय पूंजी बाजारों, शेयर और ऋण बाजार में 2,300 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया. इससे पहले अप्रैल-जून के बीच विदेशी निवेशकों ने 61,000 करोड़ से अधिक की निकासी की थी.

डिपॉजिटरी के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने 1 से 24 अगस्त के बीच भारतीय शेयर बाजार में कुल 2,048 करोड़ रुपये और ऋण बाजार में 4,662 करोड़ रुपये निवेश किए. इस तरह भारतीय पूंजी बाजार में कुल 6,710 करोड़ रुपये का निवेश हुआ. 

मॉर्निंगस्टार में शोध प्रबंधक और वरिष्ठ विश्लेषक हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि वृहद आर्थिक मोर्चे पर सुधार, कंपनियों के बेहतर तिमाही नतीजों, मिड और स्मॉल शेयरों के क्षेत्र में सुधार और भारत को लेकर अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) की सकारात्मक टिप्पणी का निवेश में अहम योगदान रहा.

उन्होंने कहा कि वास्तव में विदेशी निवेशकों का रुख सकारात्मक है. हालांकि, विदेशी निवेशकों के पहले के मुकाबले निवेश की तुलना में यह अभी कम है. यह संकेत है कि निवेशकों के अंदर अब भी थोड़ी अनिश्चितता बनी हुई है.