close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गणपति बप्पा के लिए सज रहे पंडाल, इंश्योरेंस कंपनियां कर रही भारी कमाई

गणपति बप्पा के स्वागत के लिए देश की आर्थिक राजधानी मुंबई पूरी तरह से तैयार है. तैयारी सिर्फ जश्न की ही नहीं हो रही है. बल्कि बीमा कंपनियां इसे कमाई के मौके के तौर पर भी देख रही हैं.

गणपति बप्पा के लिए सज रहे पंडाल, इंश्योरेंस कंपनियां कर रही भारी कमाई

नई दिल्ली : गणपति बप्पा के स्वागत के लिए देश की आर्थिक राजधानी मुंबई पूरी तरह से तैयार है. तैयारी सिर्फ जश्न की ही नहीं हो रही है. बल्कि बीमा कंपनियां इसे कमाई के मौके के तौर पर भी देख रही हैं. बड़े पैमाने पर पंडालों के इंश्योरेंस हो रहे हैं. गणपति बप्पा वैसे तो सबकी हिफाज़त करते हैं. लेकिन भक्तों ने बप्पा की हिफाजत का भी पुख्ता बंदोबस्त किया है. लाखों करोड़ों रुपये के पंडालों किसी भी अनहोनी से हिफाजत के लिए भारी भरकम इंश्योरेंस कराये गए हैं. दिलचस्प ये है कि पिछले साल साल से ज्यादा रकम के इंश्योरेंस कराये जा रहे हैं.

लालबाग के राजा का 51 करोड़ का कवर
जीएसबी किंगसर्किल के मंडल ने इस साल 266 करोड़ रुपये का बीमा कवर लिया है. जबकि पिछले ,साल ये कवर 264 करोड़ रुपए का था. जीएसबी वडाला ने भी इस साल अपना बीमा कवर 50 करोड़ बढ़ाकर 55 करोड़ रुपये करा दिया है. लालबाग के राजा ने बीते साल 51 करोड़ रुपये का बीमा कवर लिया था. इस साल भी लालबाग का राजा गणपति मंडल ने उतनी ही रकम का कवर लिया है. मुंबई के राजा गणेश गल्ली के लिए इस साल मंडल ने 7.5 करोड़ रुपये का बीमा कराया है. बीते साल भी 6.5 करोड़ रुपये का कवर लिया था.

अंधेरी के राजा के लिए इस साल कवर बढ़ा
बॉलीवुड के प्रिय माने जाने वाले अंधेरी का राजा के लिए भी इस साल कवर बढ़ा है. दस दिनों तक चलने वाले फेस्टिवल के लिए बीमा कंपनियां खास तौर पर बीमा कवर तैयार करती हैं. वैसे तो हर गणपति मंडल के अलग अलग साइज और जरूरत के हिसाब से प्रोडक्ट तैयार किया जाता है. लेकिन मोटे तौर पर बीमा कवर में बप्पा को मिलने वाले चढ़ावे, गहने का बीमा होता है. साथ ही वालंटियर्स का बीमा, आग लगने, चोरी होने, आतंकी घटना होने या फिर प्रसाद खाने से बीमार होने की स्थिति में किसी दावे से बचने का भी कवर गणपति मंडल लेते हैं.

(रिपोर्ट : नेहा सिंह)