PNB 'महाघोटाला': मेहुल चौकसी ने बंद की गीतांजलि जेम्स? कर्मचारियों से कहा- 'जाओ घर'

मुख्य आरोपियों में शुमार और गीतांजलि जेम्स के प्रमुख मेहुल चौकसी ने अपनी कंपनी बंद कर दी है. मेहुल चौकसी ने कर्मचारियों को भेजी एक चिट्ठी में कहा है कि वह अपना रिलिविंग लेटर ले सकते हैं. 

PNB 'महाघोटाला': मेहुल चौकसी ने बंद की गीतांजलि जेम्स? कर्मचारियों से कहा- 'जाओ घर'
एक अंग्रेजी चैनल ने दावा किया है कि मेहुल चौकसी ने कंपनी बंद कर दी है.

नई दिल्ली: क्या गीतांजलि जेम्स अब बंद हो गई? कंपनी में नौकरी करने वालों का क्या होगा? क्या कर्मचारियों को उनकी सैलरी मिलेगी? कौन देगा सैलरी? ऐसे कईं सवाल हैं और जवाब में बहुत कुछ छुपा है. अब पीएनबी महाघोटाले में एक और मोड़ आया है. मुख्य आरोपियों में शुमार और गीतांजलि जेम्स के प्रमुख मेहुल चौकसी ने अपनी कंपनी बंद कर दी है. मेहुल चौकसी ने कर्मचारियों को भेजी एक चिट्ठी में कहा है कि वह अपना रिलिविंग लेटर ले सकते हैं. अब सवाल यह है कि क्या सच में गीतांजलि जेम्स को बंद कर दिया गया है. क्या यहां काम करने वाले कर्मचारियों को फरवरी का वेतन मिलेगा? अभी इस पर संदेह है. 

क्या सच में बंद हो गई कंपनी?
एक अंग्रेजी टीवी चैनल ने दावा किया है कि, मेहुल चौकसी ने कंपनी बंद कर दी है और कर्मचारियों के साथ फाइनल सेटलमेंट भी नहीं किया जाएगा. इसके साथ ही सवाल यह भी उठता है कि कंपनी में सालों से काम करने वाले कर्मचारियों को पीएफ और ग्रैच्‍युटी का लाभ मिलेगा या नहीं? अगर सच में ऐसा हुआ है तो ऐसे में कर्मचारियों को बड़ा नुकसान झेलना होगा. सूत्रों की मानें तो गीतांजलि जूलर्स में तकरीबन तीन हजार कर्मचारी काम करते हैं. इन सभी को तत्‍काल प्रभाव से नौकरी छोड़ने का निर्देश दिया गया है. 

सनसनीखेज खुलासा: मुंबई की चाल में रहते हैं मेहुल चौकसी की कंपनी के डायरेक्टर्स

शीर्ष अधिकारी दे चुके हैं इस्तीफा
पीएनबी महाघोटाले में नाम सामने आने के बाद कंपनी के शीर्ष अधिकारी पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं. इनमें गीतांजलि के सीएफओ लेकर बोर्ड के चार शीर्ष अधिकारी शामिल हैं. इस्तीफा देने वालों में सीएफओ चंद्रकांत करकरे, कंपनी सेक्रेट्री और सीसीओ पंखुरी वारंगे और बोर्ड सदस्‍य कृष्‍णनन संगमेस्‍वरन के नाम सामने आए हैं.

PNB 'महाघोटाले' का सबसे बड़ा खुलासा, खुल गई पंजाब नेशनल बैंक और RBI की 'पोल'!

फर्जी एलओयू से दिया घोटाले को अंजाम
नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने पीएनबी से फर्जी दस्‍तावेज के आधार पर लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LoU) हासिल किए थे. आरोप है कि इसमें बैंक के कुछ कर्मचारी भी शामिल थे. जिसमें पीएनबी के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोरखनाथ शेट्टी को सीबीआई ने गिरफ्तार भी किया है. साथ ही नीरव मोदी के सीएफओ विपुल अंबानी को भी हिरासत में लिया जा चुका है.

क्या अब SIT करेगी PNB घोटाले की जांच? याचिका पर सुनवाई को तैयार सुप्रीम कोर्ट

और भी नाम हो सकते हैं शामिल
LoU के जरिए नीरव-मेहुल ने पंजाब नेशनल बैंक को 11,400 करोड़ रुपए का चूना लगाया. सीबीआई और अन्य जांच एजेंसियां लगातार इस मामले में छापेमारी कर रही हैं. सीबीआई का दावा है कि नीरव और मेहुल के अलावा इस घोटाले में कुछ और हीरा कारोबारी भी शामिल हो सकते हैं.

'महाघोटाले' का असर, फिच ने PNB को नकारात्मक सूची में डाला, रेटिंग पर बड़ा खतरा

खुलासे पहले ही विदेश भागे आरोपी
सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले के दोनों मुख्‍य आरोपी इसका खुलासा होने से पहले ही देश छोड़कर भाग चुके हैं. नीरव मोदी ने PNB को 19 फरवरी को चिट्ठी लिखकर साफ कर दिया है कि बैंक ने जल्दबाजी की और अब वह पैसा नहीं लौटाएगा. इससे पहले भी वह दावा कर चुके हैं कि उनकी कंपनियों पर सिर्फ 5000 करोड़ रुपए का ही ब‍काया है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.