कोरोना का असर: GoAir ने कर्मचारियों के वेतन काटने का लिया फैसला

देश भर में कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से हुए लॉकडाउन ने कंपनियों की जेबों पर अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है.

कोरोना का असर: GoAir ने कर्मचारियों के वेतन काटने का लिया फैसला

नई दिल्‍ली: देश भर में कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से हुए लॉकडाउन ने कंपनियों की जेबों पर अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है. कोरोना वायरस की वजह से लोगों ने देश के दूसरे हिस्सों में जाना काफी कम कर दिया था और बेहद जरूरी होने पर ही कहीं आ जा रहे थे, लेकिन जिस तरह से 22 मार्च से एक-एक कर राज्यों ने लॉकडाउन करना शुरू किया, देश में विमान सेवा को 24 मार्च की रात से 21 दिनों के लिये बंद किया गया इसका असर अब कंपनियों की जेबों ने दिखाना शुरू कर दिया है.

इस खतरनाक Corona Virus को फैलने से रोकने का सबसे कारगर तरीका यही है कि सभी लोग अपने घरों में रहे, लेकिन इसी कारगर तरीके की वजह से कंपनियां घाटे में आ गई हैं. हालांकि सरकार ने कंपनियों से अपील की थी कि इस लॉकडाउन के समय कंपनियां घर पर रह रहे कर्मचारियों की सैलरी में किसी तरह की कटौटी ना करें लेकिन बावजूद इसके विमान कंपनी GoAir ने अपने सभी कर्मचारियों की मार्च से सैलरी काटने का फैसला किया है. इसके लिये बकायदा सभी कर्मचारियों को मेल से जानकारी भी दी गई है.

LIVE TV

दरअसल विमान कंपनियां फारवर्ड प्लानिंग के तहत काम करती हैं, लोग ज्यादातर एडवांस में अपनी बुकिंग करवाकर चलते हैं. उसी के हिसाब से होटल और दूसरी जगहों की बुकिंग होती है. लेकिन सरकार की एडवाइजरी और इस कोरोना वायरस के कारण लोग कहीं भी नहीं आ-जा रहे हैं और जो बुकिंग थी वो भी कैंसिल करवा ली गई है.  

GoAir के प्रवक्ता का कहना है- हमने कर्मचारियों की सैलरी में कटौती करने का फैसला लिया है क्योंकि कंपनी के पास कैश फ्लो की काफी कमी है, जो भी बुकिंग थी वो कैंसिल हो चुकी है और आगे की कोई भी बुंकिग नहीं आ रही है.

ट्रांसपोर्ट से जुड़ी कंपनियों के साथ दूसरे कारोबार, जिनमें होटल, रेस्टोरेंट, टूरिज्म को भी काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है, लेकिन ये पहली कंपनी है जिसने लॉकडाउन और कोरोना वायरस के चलते सैलरी कट करने का फैसला लिया है, ऐसे में आने वाले दिन बाकी कंपनियों के लिये भी काफी अहम होने वाले है और सरकार को भी कहीं ना कहीं इस मामले में दखल देने की जरूरत है जिससे कारोबार और कर्मचारियों को किसी तरह का नुकसान ना हो.