close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोने-चांदी बनाएगा नया रिकॉर्ड! फेस्टिव सीजन में 40,000 हो सकता है गोल्ड

Gold In Festive Season : देश में त्योहारी सीजन की शुरुआत होने वाली है और ऐसे में सोने-चांदी की कीमतें फिर से तेजी के रथ पर सवार हो चुकी हैं. भू-राजनैतिक तनाव बढ़ने की वजह से कच्चे तेल की क़ीमतों में ज़ोरदार तेज़ी देखने को मिली है और इसका सीधा असर सोने-चांदी की क़ीमतों पर पड़ा है.

सोने-चांदी बनाएगा नया रिकॉर्ड! फेस्टिव सीजन में 40,000 हो सकता है गोल्ड

नई दिल्ली : देश में त्योहारी सीजन की शुरुआत होने वाली है और ऐसे में सोने-चांदी की कीमतें फिर से तेजी के रथ पर सवार हो चुकी हैं. भू-राजनैतिक तनाव बढ़ने की वजह से कच्चे तेल की क़ीमतों में ज़ोरदार तेज़ी देखने को मिली है और इसका सीधा असर सोने-चांदी की क़ीमतों पर पड़ा है. सऊदी अरब की कंपनी सऊदी अरामको पर ड्रोन हमले के बाद प्रोडक्शन में कटौती से क्रूड ऑयल के दाम उछले हैं. सुरक्षित निवेश के तौर पर सोने की चमक लगातार बढ़ रही है. क्या सोने में निवेश करने का सही समय है. क्या त्योहारी सीज़न में सोने की क़ीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी. समझते हैं.

सोना 39,500-40,000/10 ग्राम और चांदी 50,000-52,000/किलो
केडिया कमोडिटी के अजय केडिया कहते हैं कि विदेशी बाज़ार में फिलहाल सोने का भाव $1500/औंस डॉलर प्रति औंस के करीब है और अक्टूबर मिड तक दाम $1540/औंस तक जा सकते हैं यानी घरेलू बाज़ार में सोने की क़ीमत 40,000/10 ग्राम तक जा सकती है. विदेशी बाज़ार में चांदी की क़ीमत $17.83/औंस है और आने वाले समय में आंकड़ां $19.25/औंस तक जा सकता है यान चांदी का भाव 52,000/किलो तक जाने की उम्मीद है.

एंजेल कमोडिटीज़ के अनुज गुप्ता ने बताया कि सोने-चांदी की क़ीमतों में उछाल की वजह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जारी तनाव तो है लेकिन पितृ-पक्ष के बाद हाजिर बाज़ारों में भी डिमांड निकलनी शुरू हो जाएगी. हालांकि, भाव ज़्यादा होने की वजह से डिमांड ज़्यादा नहीं रहेगी लेकिन मार्केट के सेंटीमेंट्स में हल्का बदलाव जरूर आएगा. दिवाली तक विदेशी बाजार में सोने का दाम $1530/औंस और घरेलू बाजार में दाम 39,500-40,000/10 ग्राम तक पहुंच सकते हैं. वहीं, चांदी का भाव $18.50-19/औंस और घरेलू बाज़ार में चांदी का दाम 49-50,000/किलो तक जा सकता है. विदेशी बाज़ार में क्रूड का दाम $72/बैरल तक जाने की संभावना है.

सोने की कीमत तय करेगी डिमांड की दिशा
द बुलियन ज्वैलरी एसोसिएशन के प्रेसीडेंट योगेश सिंघल का कहना है कि पिछले काफी समय से ज्वेलरी सेक्टर का काफी बुरा हाल है और ऐसे में रुपये की कमज़री और दाम बढ़ने से डिमांड पर बुरा असर पड़ रहा है. भारत के लोग सोने के रेट्स के प्रति काफी सजग रहते हैं और क़ीमतें बढ़ने से वजह से परचेसिंग पॉवर काफी कम हो रही है. दूसरी तरफ ज़्यादतर सेक्टर में ग्रोथ कम होने की वजह से भी सोने-चांदी की ख़रीद पर असर पड़ रहा है. उम्मीद तो है कि नवरात्र के दौरान मांग निकलेगी लेकिन अगर क़ीमतों में यहां से और उछाल आता है तो ज़्यादा डिमांड निकलने की संभावना काफी कम है.

हाजिर बाजारों में सोने-चांदी का रेट
दिल्ली हाजिर बाज़ार में सोना (999) का दाम 39,000/10 ग्राम है. वहीं, चांदी (999) का भाव 47,440/किलो पर है. मुंबई हाजिर बाजार में सोना (999) का दाम 39,035/10 ग्राम है. वहीं, चांदी (999) का भाव 47,440/किलो पर है. अहमदाबाद में सोना (999) का भाव 39,070/10 ग्राम है. वहीं, चांदी (999) का भाव 47,530/किलो पर बिक रही है.

$80/बैरल तक जाएगा क्रूड
केडिया कमोडिटी के अजय केडिया ने क्रूड ऑयल के बारे में बताया कि सऊदी अरामको पर ड्रोन हमले के बाद रोज़ाना 5.7 मिलियन बैरल की सप्लाई प्रभावित हो रही है जो कि वर्ल्ड की कुल सप्लाई का 5 प्रतिशत है. सप्लाई प्रभावित होने से कच्चे तेल की क़ीमतों में आगे और उछाल आने की संभावना है. अक्टूबर के मध्य तक ब्रेंट क्रूड ऑयल का दाम $80/बैरल तक जा सकता है. विदेशी बाज़ार में ब्रेंट क्रूड ऑयल का भाव 68 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है. वहीं, अनुज गुप्ता का कहना है कि आने वाले समय में ब्रेंट क्रूड का दाम $78-80/प्रति बैरल तक जाने की पूरी उम्मीद बन रही है.

कैसी होगी रुपये की चाल
डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट की वजह से भी सोने को सपोर्ट मिल रहा है. डॉलर के मुकाबले आज रुपया 23 पैसे की कमज़ोरी से 71.82/$ पर खुला है. ट्रस्टलाइन के राजीव कपूर बताते हैं कि आने वाले समय में 72.40/$ का स्तर छू सकता है. अगर ऐसा होता है तो सोने-चांदी की कीमतों को अच्छा सपोर्ट मिलेगा.

FOMC की आज से बैठक शुरू
एफओएमसी यानी फेडरल ओपन मार्केट कमिटि की आज से फेडरल रिजर्व बैंक की बैठक शुरू होने वाली है जिसमें ब्याज दरों पर फैसला होने वाला है. फिलहाल अमेरिका में ब्याज दरें 2.25% है और इसमें 0.25% की कटौती होने की संभावना है. ब्याज दरों में कटौती से डॉलर में नरमी और सोने की कीमतों में फिर से तेजी की संभावना है. कल फेड की बैठक के नतीजे आएंगे और ज्यादात निवेशकों की नजर फेड की बैठक पर लगी हुई है.