Zee Rozgar Samachar

कोरोना लॉकडाउन: सोने की कीमतों में जबरदस्त आग लगने की संभावना, जानें कितने बढ़ सकते हैं दाम

संकट की घड़ी में आपके पास रखे सोने की कीमतों में जबरदस्त इजाफा हो सकता है.

कोरोना लॉकडाउन: सोने की कीमतों में जबरदस्त आग लगने की संभावना, जानें कितने बढ़ सकते हैं दाम
फाइल फोटो

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस संकट के चलते चारों तरफ भले ही नुकसान ही नुकसान नजर आ रहा हो लेकिन इस संकट की घड़ी में भी आपके पास रखे सोने की कीमतों में जबरदस्त इजाफा हो सकता है. इतिहास में भी देखें तो देश-दुनिया में जब आर्थिक संकट गहराता है तो निवेशकों के लिए निवेश की पहली पसंद सोना ही बनता है. बाजार के जानकारों की मानें तो निकट भविष्य में भारत में सोना 50,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर सकता है.

50 हजार प्रति दस ग्राम हो सकता है सोना
इंडिया बुलियन एंड ज्वलर्स एसोसिएशन के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता का अनुमान है कि निकट भविष्य में भारत में सोने का भाव 50,000 रुपये से ऊपर जा सकता है और यह 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक के स्तर को छू सकता है. उन्होंने कहा कि सोना संकट का साथी बनता है और जब आर्थिक आंकड़ों में गिरावट आएगी तो सोने के प्रति निवेशकों का रुझान बढ़ेगा.

LIVE TV

अक्षय तृतीया से कारोबारियों को उम्मीद
सर्राफा कारोबारी देश में कोरोनावायरस के प्रकोप पर लगाम लगने की राह देख रहे हैं, क्योंकि 14 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त होने के बाद जब बाजार खुलेगा तो वे अक्षय तृतीया की तैयारी कर पाएंगे. देश में सोने की खरीदारी के लिए अक्षय तृतीया को शुभ मुहूर्त माना जाता है और हर साल इस अवसर पर लोग आभूषणों की खूब खरीदारी करते हैं. इस बार अक्षय तृतीया 26 अप्रैल को है.

ये भी पढ़ें: अगर इस बीमारी की है समस्या तो हो जाइए सावधान, कोरोना वायरस इन्हीं पर कर रहा सबसे ज्यादा हमला

अमेरिका के फैसले का फायदा दिखेगा सोने की कीमत में 
बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना संकट से निपटने के प्रयास में अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व समेत कई देशों के केंद्रीय बैंकों ने ब्याज दरों में कटौती की है, जिसका फायदा सोने को मिलेगा, जिससे आने वाले दिनों में पीली धातु में जबरदस्त तेजी देखने को मिल सकती है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.