चार दिन की गिरावट के बाद सोने-चांदी की कीमतों में भारी उछाल, 5 खास बातें

मजबूत वैश्विक रुख के बीच स्थानीय आभूषण विक्रेताओं की मांग में तेजी आने से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने में चार दिनों से जारी गिरावट पर विराम लग गया.

चार दिन की गिरावट के बाद सोने-चांदी की कीमतों में भारी उछाल, 5 खास बातें
पिछले चार दिन में सोने में 390 रुपये की गिरावट आई थी....(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मजबूत वैश्विक रुख के बीच स्थानीय आभूषण विक्रेताओं की मांग में तेजी आने से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने की कीमतों में पिछले चार दिनों से जारी गिरावट पर विराम लग गया. सोमवार को सोने की कीमतों में 390 रुपये की भारी तेजी देखने को मिली. सोना 31,850 रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुआ. इसके साथ ही औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं की मजबूत मांग के चलते चांदी भी 800 रुपये तेजी के साथ 37,360 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई.  

1. सर्राफा कारोबारियों ने कहा कि मजबूत वैश्विक संकेतों तथा आभूषण विक्रेताओं और फुटकर कारोबारियों की मांग के समर्थन से सोने में चमक लौट आई. पिछले चार दिन में सोने में 390 रुपये की गिरावट आई थी.  

2. दिल्ली में 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाला सोना 390 - 390 रुपये की तेजी के साथ क्रमश: 31,850 रुपये और 31,700 रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुआ. हालांकि, आठ ग्राम वाली गिन्नी 24,700 रुपये प्रति इकाई के पूर्वस्तर पर बनी रही.

3. न्यूयॉर्क में सोना और चांदी तेजी रही. सोना मजबूती के साथ 1,226.66 डॉलर प्रति ट्राय औंस तथा चांदी भी तेज हो कर 14.33 डॉलर प्रति ट्राय औंस हो गई. 

4. इस बीच, स्थानीय बाजार में चांदी हाजिर के भाव 800 रुपये की तेजी के साथ 37,360 रुपये प्रति किलोग्राम और चांदी साप्ताहिक डिलीवरी 602 रुपये की तेजी के साथ 35,749 रुपये प्रति किलो हो गई.  हालांकि, चांदी सिक्का लिवाल और बिकवाल क्रमश: 72,000 रुपये और 73,000 रुपये प्रति सैकड़ा के पूर्व स्तर पर बने रहे. 

5. वैश्विक बाजारों में कमजोरी के संकेतों और स्थानीय आभूषण कारोबारियों की मांग में गिरावट के कारण बीते सप्ताह दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने के भाव 390 रुपये की गिरावट के साथ 31,460 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुए थे. चांदी के भाव भी 890 रुपये की हानि के साथ 36,560 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर पर गिर गए थे. हालांकि सोमवार को दोनों कीमती धातुओं में तेजी की धारणा रही.