मुंबई से गोरखपुर के लिए निकली ट्रेन कैसे पहुंच गई ओडिशा? पश्चिम रेलवे ने दी सफाई

उत्तर प्रदेश के लिए 21 मई को रवाना हुई वसई रोड- गोरखपुर श्रमिक विशेष ट्रेन शनिवार सुबह ओडिशा के राउरकेला पहुंची.

मुंबई से गोरखपुर के लिए निकली ट्रेन कैसे पहुंच गई ओडिशा? पश्चिम रेलवे ने दी सफाई

मुंबई: उत्तर प्रदेश के लिए 21 मई को रवाना हुई वसई रोड- गोरखपुर श्रमिक विशेष ट्रेन शनिवार सुबह ओडिशा के राउरकेला पहुंची. यात्री भ्रम में पड़ गए और उन्हें शक होने लगा कि कहीं ड्राइवर रास्ता तो नहीं भटक गया. सोशल मीडिया पर इसको लेकर काफी हल्ला मचा हुआ है. अब इस पर रेलवे की सफाई है. पश्चिम रेलवे का कहना है कि ड्राइवर रास्ता नहीं भटका, बल्कि रूट पर भारी ट्रैफिक की वजह से इस ट्रेन के रूट में परिवर्तन करके उसे ओडिशा के रास्ते भेजा गया है. 

पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी रवींद्र भाकर ने बताया कि इस ट्रेन का मार्ग बदलकर उसे बिलासपुर, झारसुगुडा, राउरकेला, आद्रा और आसनसोल स्टेशनों के रास्ते गोरखपुर किया गया है. ट्रेन 21 मई को मुम्बई के वसई रोड स्टेशन से गोरखपुर के लिए रवाना हुई थी. 

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश जाने वाली इस ट्रेन का मूल मार्ग कल्याण, जलगांव, भुसावल, खंडवा, इटारसी, जबलपुर और माणिकपुर से होकर गोरखपुर जाने का था लेकिन इस मार्ग पर भारी ट्रैफिक होने के कारण ट्रेन का मार्ग परिवर्तित किया गया. 

अधिकारी ने स्पष्ट किया कि भारी यातायात का संज्ञान लेते हुए रेलवे बोर्ड ने उसे पश्चिम रेलवे के उधना, सूरत, वलसाड, अंकलेश्वर, कोंकण रेलवे के कुछ स्टेशनों ओर ओडिशा में मध्य रेलवे के मार्ग के रास्ते अस्थायी रूप से चलाने का निर्णय लिया. उन्होंने कहा कि इटारसी-जबलपुर-पंडित दीनदयाल नगर मार्ग पर भारी यातायात होने की वजह से ट्रेनें अब बिलासपुर, झारसुगुडा और ओडिशा के राउरकेला स्टेशनों के रास्ते चलेंगी.

रेलवे कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी श्रमिकों के लिए एक मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है. 

ये भी देखें-