सरकार पर Air India का 1000 करोड़ बकाया : जयंत सिन्हा

एयर इंडिया खुद वित्तीय संकट से जूझ रहा है. कंपनी पर करीब 50 हजार करोड़ रुपये का बकाया है.

सरकार पर Air India का 1000 करोड़ बकाया :  जयंत सिन्हा
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: सिविल एविएशन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने गुरुवार को बताया कि वित्तीय संकट का सामना कर रही एयर इंडिया का 1,000.62 करोड़ रुपये सरकार पर बकाया है. मार्च 2018 तक यह बकाया केवल 325 करोड़ रुपये था. एयर इंडिया खुद वित्तीय संकट से जूझ रहा है. कंपनी पर करीब 50 हजार करोड़ रुपये का बकाया है.

लोकसभा में प्रश्न के लिखित उत्तर में सिन्हा ने कहा कि यह राशि विदेश मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय और गृह मंत्रालय पर बकाया है. उन्होंने कहा कि बकाये के बारे में नियमित समय पर एयर इंडिया एवं नागर विमानन मंत्रालय द्वारा याद दिलाया जाता है और आमतौर पर इस तरह के बकाये का भुगतान समय पर हो जाता है.

Air India को घाटे से उबारने के लिए सरकार ने तैयार किया मेगा प्लान

पिछले दिनों एयर इंडिया ने ग्लोबल एयर टिकट आरक्षण डेटा प्रोवाइडर अमेडियस (Amadeus) के साथ अपने 30 साल पुराने रिश्ते को खत्म कर दिया. कंपनी अब अमेडियस की प्रतिद्वंद्वी ट्रैवलपोर्ट के साथ करार करने जा रही है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, इस कदम से एयर इंडिया के छह साल में 3,000 करोड़ रुपए बचेंगे. 

ट्रैवल एजेंटों का मानना है कि इसका तत्काल असर उन यात्रियों पर पड़ सकता है जिन्होंने एमेडियस के माध्यम से एयर इंडिया की टिकट बुक कराई हो, लेकिन अब उसे कैंसिल या बदलाव करना चाहते हों. हालांकि, कंपनी के एक अधिकारी ने अखबार को बताया कि इससे यात्रियों को कोई नुकसान नहीं होगा. आपको बता दें कि अमेडियस ग्लोबल डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम का एक बड़ा नेटवर्क है जो ट्रैवल वेबसाइटों को एयरलाइन का रीयल-टाइम डेटा, बुकिंग, किराए आदि की जानकारी उपलब्ध कराता है.

(इनपुट-भाषा से भी)