लद्दाख को कश्मीर से जोड़ेगी ये 14 किमी लंबी टनल, जल्द शुरू होगा काम

कश्मीर से लद्दाख को जोड़ने के लिए जोजिला टनल प्रोजेक्ट बेहद अहम है. NHAI से जुड़े सूत्रों के मुताबिक इस महीने किसी एक कंपनी को प्रॉजेक्ट दिया किया जाएगा और 6 साल में इसको पूरा करने का लक्ष्य है. बता दें कि जोजिला टनल 14.15 किमी टनल प्रोजेक्ट है और इसकी लागत 4400 करोड़ रुपए है. 

लद्दाख को कश्मीर से जोड़ेगी ये 14 किमी लंबी टनल, जल्द शुरू होगा काम
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सरकार ने लद्दाख और कश्मीर (Kashmir) में रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण जोजिला टलन परियोजना को आगे बढ़ाने का काम शुरू कर दिया है. जोजिला टनल बनाने के लिए 3 कंपनियां आगे आई हैं. सूत्रों के मुताबिक सड़क परिवहन मंत्रालय के अंतर्गत नेशनल हाइवे ऑथोरिटी को 3 बड़ी कंपनियों से जोजिला टनल बनाने के लिए बिड हासिल हुई है. आपको बता दें कि कश्मीर से लद्दाख (Kashmir to Ladakh) को जोड़ने के लिए जोजिला टनल प्रोजेक्ट बेहद अहम है. 

सूत्रों ने कहा कि इंफ्रा सेक्टर से जुड़ी दो बड़ी कंपनियां एल&टी (L&T) और मेधा इंजिनीरिंग इंफ्रा लिमिटेड (Medha Engineering & Infra Ltd.) के साथ ही रेलवे पीएसयू इरकॉन (IRCON) ने भी इस परियोजना में दिलचस्पी दिखाई है. ये तीनों कंपनियां NHAI बिडिंग प्रक्रिया में शामिल हुईं.

आपको बता दें कि कश्मीर से लद्दाख को जोड़ने के लिए जोजिला टनल प्रोजेक्ट बेहद अहम है. NHAI से जुड़े सूत्रों के मुताबिक इस महीने किसी एक कंपनी को प्रॉजेक्ट अवार्ड किया जाएगा और 6 साल में इसको पूरा करने का लक्ष्य है. बता दें कि जोजिला टनल 14.15 किमी टनल प्रोजेक्ट है और इसकी लागत 4400 करोड़ रुपए है. 

ये भी पढ़ें- महज 12 घंटे में पूरा होगा दिल्ली से मुंबई का सफर, सरकार ने इस दिशा में बढ़ाया अहम कदम

दरअसल, इस प्रोजेक्ट को बनाने और पूरा करने की एक कोशिश पहले भी की गई थी. पहले जोजिला टनल बनाने का काम 2017 में IL&FS को सौंपा गया था. लेकिन IL&FS संकट के बाद, 2019 में कंपनी से वापस ले लिया गया था.

सूत्रों के मुताबिक हाईवे ऑथोरिटी ने पहली बार टनल बनाने की बिडिंग दस्तावेज में प्राइवेट प्लेयर से हेलीकाप्टर सेवा भी शामिल करने की शर्त शामिल है. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि खराब मौसम और विपरीत परिस्थितियों में भी वर्कफोर्स के मूवमेंट में कोई दिक्कत ना आए, साथ ही मेडिकल इमरजेंसी में भी हेलीकॉप्टर सेवा मदद कर सके.