IATA के कोविड पासपोर्ट के जरिए कर सकेंगे कई देशों में ट्रैवल, नहीं होना पड़ेगा Quarantine

दुनियाभर की सरकारों के सामने सबसे मुश्किल सवाल यह है कि वे कैसे पता करेंगी कि कौन सा यात्री सुरक्षित है, कौन संक्रामक है, कौन खतरे के मामले में सबसे आगे है और किसे कोरोना संक्रमण होने का खतरा कम है. इसमें कोविड पासपोर्ट यात्रियों के साथ ही सरकारों को भी कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम को प्रभावी कर पाएगा. इस पासपोर्ट का ट्रायल जल्द शुरू होगा और अगली तिमाही में लॉन्च किया जा सकता है.  

IATA के कोविड पासपोर्ट के जरिए कर सकेंगे कई देशों में ट्रैवल, नहीं होना पड़ेगा Quarantine
फाइल फोटो

नई दिल्लीः कोरोना (Corona) काल में विदेश से आने या फिर जाने वाले यात्रियों के जल्द ही एक कोविड पासपोर्ट (Covid Passport) जारी किया जाएगा, ताकि उन्हें आने के बाद 14 दिनों के लिए Quarantine न रहना पड़े. फिलहाल इस वक्त लोग इसी वजह से विदेश यात्रा भी बहुत कम कर रहे हैं. कोरोना वायरस की वजह से इंटरनेशनल ट्रैवल पर बहुत प्रभाव पड़ा है और फिलहाल लोग अनावश्यक यात्रा करने से बच रहे हैं, जिससे एयरलाइंस की आय पर भी असर पड़ा है. 

ये समूह लॉन्च करेगा कोविड पासपोर्ट
इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (IATA) ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि वो इंटरनेशनल एयरलाइंस ग्रुप (IAG) के साथ मिलकर इस तरह की योजना पर काम कर रहा है. जल्द ही इस पासपोर्ट या फिर हेल्थ पास का ट्रायल भी शुरू किया जाएगा. 2021 की पहली तिमाही में इस तरह का हेल्थ पासपोर्ट आधिकारिक तौर पर पूरे विश्व में के लिए लॉन्च कर दिया जाएगा. 

यह भी पढ़ेंः गाड़ी पर Fastag लगवाना 1 जनवरी से होगा जरूरी, इसके बिना नहीं होगा Third Party Insurance

अभी हो रहा है Bubble उड़ानों का संचालन
फिलहाल विश्व के कई देश जिनमें भारत भी शामिल है, वो Bubble फ्लाइट्स का संचालन कर रहे हैं. आईएटीए के महानिदेशक और सीईओ एलेक्जेंडर डे जुनियाक ने कहा, 'आज सीमाएं डबल लॉक हैं. क्वारेंटाइन उपायों के बिना अंतर्राष्ट्रीय यात्रा को सक्षम करने के लिए टेस्टिंग पहली जरूरत है. दूसरी जरूरत है वैश्विक सूचना का बुनियादी ढांचा जो बॉर्डर कंट्रोल आवश्यकताओं के अनुपालन में यात्री पहचान के साथ मिलान किए गए टेस्टिंग डेटा को सुरक्षित रूप से प्रबंधित करने, साझा करने और सत्यापित करने के लिए आवश्यक है. ये IATA यात्रा पास का काम है.

लोग सुरक्षित करें यात्रा ये प्राथमिकता
आईएटीए के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, हवाई अड्डे, यात्री, कार्गो और सुरक्षा निक केरेन ने कहा कि 'हमारी मुख्य प्राथमिकता लोगों को फिर से सुरक्षित यात्रा कराने के लिए है. सरकारों को यह विश्वास दिलाना है कि व्यवस्थित COVID-19 टेस्टिंग कितनी जरूरी है. आईएटीए यात्रा पास दोनों के लिए एक समाधान है.'

Airlines को भी मिलेगा आधार
पासपोर्ट और वीजा नियमों के अनुपालन का प्रबंधन करने के लिए ज्यादातर एयरलाइंस द्वारा IATA के टाइममैटिक का उपयोग किया जाता है और यह वैश्विक रजिस्ट्री और स्वास्थ्य आवश्यकताओं के सत्यापन के लिए आधार होगा. आईएटीए की एक आईडी पहल योजना को 2019 में 75वीं वार्षिक आम बैठक में एक प्रस्ताव द्वारा समर्थन दिया गया था ताकि एक एकल पहचान टोकन के साथ यात्रा प्रक्रियाओं को सुरक्षित किया जा सके. यह पहचान सत्यापन के लिए IATA संपर्क रहित यात्रा ऐप का आधार है जो टेस्टिंग और टीकाकरण प्रमाणपत्र का प्रबंधन भी करेगा. 
ये पास इंडस्ट्री स्टैण्डर्ड पर आधारित है और IATA को इसके बारे में काफी अनुभव पहले से है. 

ये भी देखें----

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.