अभी भी बचाया जा सकता है Income Tax, बस उठाना होगा ये छोटा कदम

आप अभी भी Income Tax में बचत कर सकते हैं...

अभी भी बचाया जा सकता है Income Tax, बस उठाना होगा ये छोटा कदम
फाइल फोटो

नई दिल्ली: इस साल के लिए आयकर (Income Tax) के लिए इंवेस्टमेंट डिक्लेरेशन की तारीख जा चुकी है. सैलरी क्लास के लिए सबसे बड़ी समस्या ये है कि समय के अभाव में कई बार बचत और निवेश की जानकारी समय पर जमा नहीं हो पाता. डेडलाइन खत्म होने के बाद ख्याल आता है कि काश समय पर इंवेस्टमेंट प्रूफ जमा हो जाता तो सैलरी में कटौती नहीं होती. लेकिन आपको अब घबराने की जरूरत नहीं है. हालांकि जानकारी देने की समयसीमा खत्म हो चुकी है, इसके बावजूद आप अभी भी Income Tax में बचत कर सकते हैं...

एक बार करें अपने HR से बात
दरअसल कई कंपनियों में HR डिपार्टमेंट कर्मचारियों पर दबाव बनाने के लिए ही डेडलाइन बहुत पहले रख देता है. इससे कर्मचारियों से इंवेस्टमेंट डेक्लेरेशन का ब्यौरा देने में मदद मिलती है. अक्सर HR डेडलाइन का सही समय नहीं बताते. आप एक बार बात करके देखें, शायद अभी भी ब्यौरा जमा करने का समय बचा हो. 

सैलरी कटने के बाद भी पैसा वापिस मिलने की है उम्मीद
दरअसल कंपनियां अपने सहुलियत को देखते हुए ही जनवरी अंत या फरवरी के पहले हफ्ते तक कर्मचारियों के डेक्लेरेशन का ब्यौरा सरकार को जमा कर देती है. लेकिन अगर आप इस डेडलाइन को चूक भी गए हैं तो कोई बात नहीं. आप अपने आयकर रिटर्न में भी इनकी जानकारियां देकर पैसे वापस पा सकते हैं. एक सही चार्टड एकाउंटेंट या इनकम टैक्स एक्सपर्ट आपके पैसा वापस दिलाने में मदद कर सकता है.

इसके अलावा आमतौर पर इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने की शुरुआत जून के बाद होती है और डेडलाइन 31 जुलाई तक होती है. हालांकि, लगभग हर साल इस अवधि को एक महीने के लिए बढ़ाया जाता है. टीडीएस कटौती की जानकारी लेने के लिए आपको सैलरी स्लिप चेक करना होगा. इसके साथ ही इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर विजिट कर भी आप फॉर्म 26AS से टैक्‍स कटौती की जानकारी लिया जा सकता है.